Menu

Sapna Didi Biography in Hindi | सपना दीदी (अशरफा) जीवन परिचय

सपना दीदी

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम अशरफा बी/अशरफा खान
उपनाम सपना दीदी
व्यवसाय माफिया क्वीन
शारीरिक संरचना
लम्बाई से० मी०- 158
मी०- 1.58
फीट इन्च- 5' 2”
वजन/भार (लगभग)60 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि ज्ञात नहीं
आयु ज्ञात नहीं
जन्मस्थान ज्ञात नहीं
मृत्यु तिथि 1989
मृत्यु स्थाननागपाड़ा, मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
मृत्यु का कारणहत्या
राशि ज्ञात नहीं
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर ज्ञात नहीं
स्कूल/विद्यालय ज्ञात नहीं
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय ज्ञात नहीं
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
परिवार ज्ञात नहीं
धर्म इस्लाम
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विधवा
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामलेकिशोर उर्फ़ पापा गवली
सब इंस्पेक्टर एन शेख़
पतिमहमूद पठान उर्फ कालिया (गैंगस्टर) (प्रथम पति)
सब इंस्पेक्टर एन शेख़ (दूसरा पति)
बच्चेकोई नहीं

सपना दीदी

विज्ञापन

 

सपना दीदी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या सपना दीदी धूम्रपान करती थी? ज्ञात नहीं
  • क्या सपना दीदी शराब पीती थी? ज्ञात नहीं
  • सपना दीदी की शादी एक गैंगस्टर से हुई थी, जो दाऊद इब्राहिम के लिए काम किया करता था।
  • उसके पति ने दाऊद के बड़े भाई शाबिर की प्रभादेवी में 1988 में हत्या की थी।
  • जब पठान गिरोह के समद ख़ान और आलमजेब-अमीरजादा की हत्याएँ हो गई तो कालिया गिरोह का सेनापति उनके पति को बनाया गया। इसके बाद दाऊद ने कालिया से सम्पर्क किया। उसने कालिया को दुबई जाने के लिए टिकट दिया लेकिन वापसी का टिकट दिल्ली तक ही था। कालिया को पता नहीं था कि यह उसकी अंतिम यात्रा हो गई। जिस दिन कालिया सांताक्रुज हवाई अड्डे पर पहुँचा, सब इंस्पेक्टर अमोलिक और प्रदीप सूर्यवंशी ने उसे जा घेरा और उसे वहीं मुठभेड़ में मार गिराया।
  • दाऊद के दुश्मनों में एक बड़ा नाम अरुण गवली का भी था। अशरफ गवली के पास भी मदद मांगने गई थी। वहां जाकर उसे महसूस हुआ कि हिंदू गैंगस्टर मुसलामानों पर ज्यादा विश्वा‍स नहीं करते। इस बारे में हुसैन से बात करते समय उसने तय किया कि वह अपना नाम बदलेगी। जब हुसैन ने जानना चाह कि वह अपना नाम क्या रखना चाहती है तो उसने कहा कि उसने कुछ सोचा नहीं है। फिर कुछ देर बाद उसने कहा कि मैं हर समय बस दाउद की मौत के बारे में सोचती रहती हूं। यह मेरा सपना है इसलिए आज से मेरा नाम हुआ सपना और इसी दिन से अशरफ खान सपना दीदी के नाम से मशहूर हो गई।
  • उसके पति की डॉन दाऊद इब्राहिम ने हत्या करवा दी थी, सपना ने अपने पति की मौत का बदला लेने का फैसला किया और एक गैंगस्टर हुसैन उस्तारा के साथ हाथ मिलाया, जो दाऊद के बारे में सबकुछ जानता था और उसे नफरत करता था।
  • सपना दीदी ने हुसैन से दो महीने बाइक चलाना, मार्शल आर्ट्स करना और बंदूक चलाना सीखा।
  • बदला लेने के उनके दृढ़ संकल्प ने, दाऊद के कारोबार पर नजर रखनी शुरू कर दी और वह पुलिस की एक मुखबिर भी बन गई।
  • उसने शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में दाऊद को मारने की योजना बनाई थी। लेकिन उसे धोखा दिया गया और दाऊद ने अपने लोगों को उसे मारने का आदेश दिया। पुलिस के मुताबिक, उसकी हत्या सबसे बेरहम तरीके से करवाई गई।
  • प्रसिद्ध फिल्म निर्देशक विशाल भारद्वाज ने सपना दीदी के जीवन पर आधारित फिल्म का निर्देशन किया, जिसमें दीपिका पादुकोण और इरफान खान ने मुख्या भूमिकायें निभाईं हैं।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *