Menu

Sridevi Biography in Hindi | श्रीदेवी जीवन परिचय

श्रीदेवी

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम श्रीअम्मा यंगर अयप्पन
उपनाम श्रीदेवी, हवा-हवाई , चांदनी, जोकर
व्यवसाय अभिनेत्री
खाद्य आदतवह शाकाहारी भोजन खाना पसंद करती थीं।
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 168
मी०- 1.68
फीट इन्च- 5' 6”
वजन/भार (लगभग)55 कि० ग्रा०
शारीरिक संरचना (लगभग)34-28-34
आँखों का रंग हल्का भूरा
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 13 अगस्त 1963
मृत्यु तिथि24 फरवरी 2018
मृत्यु स्थान जुमेराह अमीरात टावर्स, दुबई, संयुक्त अरब अमीरात
आयु (मृत्यु के समय)54 वर्ष
मृत्यु कारणदुर्घटनावश पानी के टब में गिरने के कारण
जन्मस्थान मिनामपट्टी, तमिलनाडु, भारत
राशि सिंह
हस्ताक्षरश्रीदेवी हस्ताक्षर
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर मिनामपट्टी, तमिलनाडु, भारत
स्कूल/विद्यालय ज्ञात नहीं
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयज्ञात नहीं
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
डेब्यू तमिल फिल्म- Thunaivan (1967, एक बाल कलाकार के रूप में)
Thunaivan
बॉलीवुड फिल्म- जूली (1975, एक बाल कलाकार के रूप में)
जूली
बॉलीवुड फिल्म (अभिनेत्री)- सोलवाँ सावन (1978)
सोलवाँ सावन
मलयालम फिल्म (अभिनेत्री)- कुमार सम्भवम् (1969)
कुमार सम्भवम्
कन्नड़ फिल्म- भक्ता कुम्बरा (1974)
भक्ता कुम्बरा (1974)
तेलुगू फिल्म- माँ नन्ना निर्दोषी (1970)
माँ नन्ना निर्दोषी (1970)
तेलुगू टीवी शो- मालिनी अय्यर (2004)
मालिनी अय्यर
अंतिम फिल्मेंकन्नड़ फिल्म-प्रिया (1979)
प्रिया (1979)
तेलुगू फिल्म- एस. पी. परशुराम (1994)
एस. पी. परशुराम (1994)
मलयालम फिल्म- देवरागम (1996)
देवरागम (1996)
तमिल फिल्म- पुली (2015)
पुली (2015)
बॉलीवुड फिल्म- मॉम (2017)
मॉम (2017)
धर्म हिन्दू
जातिअन्य पिछड़ा वर्ग (नायडू समुदाय, न्यादर्श)
पतासागर स्प्रिंग्स, बंगला नंबर 2
ग्रीन एकर्स, 7 बंगला,
अंधेरी पश्चिम, लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स, मुंबई
शौक/अभिरुचिचित्रकारी करना, नृत्य करना
पुरस्कार / सम्मान• वर्ष 1977 में, फिल्म "16 वायथिनइल" के लिए फिल्मफेयर स्पेशल अवार्ड से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 1982 में, तमिल फिल्म "मेमेन्डम कोकीला" के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवार्ड से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 1990 में, हिंदी फिल्म "चालाबाज" के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 1991 में, तेलुगू फिल्म "क्षण क्षणम" के लिए फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 1992 में, हिंदी फिल्म 'लम्हे' के लिए फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2013 में, हिंदी फिल्म नगीना और मिस्टर इंडिया के लिए फिल्मफेयर स्पेशल अवार्ड से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2013 में, भारत सरकार द्वारा उन्हें पद्म श्री अवॉर्ड देकर सम्मानित किया गया। 
श्रीदेवी पद्म श्री अवॉर्ड प्राप्त करती हुई
विवाद • मिथुन चक्रवर्ती के साथ हुआ विवाह को छुपाने के कारण श्रीदेवी की काफी आलोचना हुई यह विवाह तब विवादों में आया जब फैन नामक एक पत्रिका ने उनके विवाह प्रमाणपत्र को प्रकाशित जकर दिया था।
• बोनी कपूर के साथ उनका विवाह विवादास्पद रहा था, क्योंकि बोनी की पहले से ही मोना शौरी कपूर से शादी हो चुकी थी और इसी वजह से मीडिया ने उन्हें घर तोड़ने (home-wrecker) वाली का खिताब दे दिया था।
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामले मिथुन चक्रवर्ती (अभिनेता)
बोनी कपूर (निर्माता)
विवाह तिथि 2 जून, 1996 (बोनी कपूर के साथ)
परिवार
माता-पितापिता - अयपन येंजर (वकील)
माता - राजेश्वरी येंजर (गृहिणी)
श्रीदेवी अपने माता-पिता और बहन के साथ
बहनश्रीलता
भाईआनंद और सतीश (सौतेले भाई)
देवरअनिल कपूर
श्रीदेवी अनिल कपूर के साथ
संजय कपूर
श्रीदेवी संजय कपूर के साथ
पतिमिथुन चक्रवर्ती (अभिनेता, 1985-1988)
श्रीदेवी मिथुन चक्रवर्ती के साथ
बोनी कपूर (निर्माता, 1996)
 श्रीदेवी अपने पति बोनी कपूर के साथ
बच्चे बेटा - अर्जुन कपूर (सौतेला बेटा)
अर्जुन कपूर अपनी बहन अंशुला कपूर के साथ
बेटी - जाह्नवी कपूर, खुशी कपूर, अंशुला कपूर (सौतेली बेटी)
श्रीदेवी अपने परिवार के साथ
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा भोजन चावल रसम, वनीला आइसक्रीम
पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन, मिथुन चक्रवर्ती, शाहरुख खान
पसंदीदा रंगसफेद
पसंदीदा गंतव्य संयुक्त राज्य अमेरिका
पसंदीदा फलस्ट्रॉबेरी
पसंदीदा पोशाककानजीवरम साड़ी
धन/संपत्ति संबंधित विवरण
वेतन (वर्ष 1995 के अनुसार )₹5 करोड़/फिल्म
संपत्ति (लगभग)₹247 करोड़ (2018 के अनुसार)

श्रीदेवी

श्रीदेवी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या श्रीदेवी धूम्रपान करती थी ? ज्ञात नहीं
  • क्या श्रीदेवी शराब पीती थी ? हाँ
  • श्रीदेवी को बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार माना जाता है।
  • उनका जन्म मिनामपट्टी, तमिलनाडु, भारत में अयपन येंजर और राजेश्वरी येंजर के घर में हुआ था।  श्रीदेवी अपने माता-पिता के साथ
  • वह 4 दशकों से अधिक समय तक हिंदी, तमिल, तेलुगू, मलयालम, कन्नड़ फिल्मों का हिस्सा रही थीं।
  • वर्ष 1967 में, उन्होंने एक तमिल फिल्म ‘Thunaivan’ में मुरुगा (बाल कलाकार के रूप में) की भूमिका निभाई और अपने अभिनय करियर की शुरुआत की।

  • वह पेशेवर रूप से एक प्रशिक्षित नर्तक नहीं थीं, फिर भी उन्हें बेहतरीन नर्तकियों में से एक माना जाता था।   श्रीदेवी नागिन नृत्य
  • बाल कलाकार के रूप में श्रीदेवी को मलयालम फिल्म ‘पुमबट्टा’ (1971) के लिए केरला स्टेट फ़िल्म अवार्ड से सम्मानित किया गया था।  पुमबट्टा   श्रीदेवी फिल्म पुमबट्टा में
  • उन्होंने अभिनेता जितेन्द्र के साथ 16 फिल्मों में अभिनय किया, जिसमें से 11 फिल्मों हिट रहीं।  श्रीदेवी जीतेन्द्र के साथ
  • एक अभिनेत्री के रूप में उनकी पहली मुख्य भूमिका तमिल फिल्म “मूंदरू मुदिचू” (1976) थी, जिसमें वह कमल हासन और रजनीकांत के बीच त्रिकोण प्रेम में पड़ गई थी।  मूंदरू मुदिचू
  • वर्ष 1977 में, तमिल फिल्म “16 वायथिनइल” में उनका 16 वर्षीय लड़की के रूप में चित्रण किया गया था, जिसकी फिल्म आलोचकों ने काफी प्रशंसा की।   श्रीदेवी के साथ कमल हासन फिल्म 16 वायथिनइल में
  • वर्ष 1980 में, के. बालाचंदर द्वारा निर्देशित तमिल फिल्म “वरमैयिन निराम सिप्पू” (1980) में श्रीदेवी और कमल हासन की भूमिका की काफी सराहना हुई थी।   वरमैयिन निराम सिप्पू
  • वर्ष 1982 में, तमिल फिल्म “मोन्द्राराम पिराई” (1982) से उन्हें फिल्म जगत में एक नई पहचान मिली। इस फिल्म में श्रीदेवी ने एक जवान औरत की भूमिका निभाई थी, जिसको भूलने की बीमारी थी, जिसकी वजह से उसका दिमाग एक 4, 5 साल की छोटी बच्ची की तरह हो हो गया था। इस फिल्म को वर्ष 1983 में “सदमा” शीर्षक के साथ हिंदी भाषा में प्रर्दिशत किया गया था।

  • यद्यपि उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म “सोलवाँ सावन” थी, लेकिन “सदमा” फिल्म के रिलीज के बाद ही उन्होंने हिंदी फिल्म उद्योग में अपने करियर की शुरुआत की।

  • वर्ष 1983 में, उनकी फिल्म “हिम्मतवाला” सुपरहिट रही थी, जिसमें उन्हें “थंडर तइस”  (Thunder Thighs) की उपाधि दी गई थी।

  • यश चोपड़ा की बॉलीवुड फिल्म “चांदनी” (1989) में उनके द्वारा निभाई गई भूमिका घर-घर में मशहूर हो गई थी, और इस फिल्म ने वर्ष 1989 में, सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय फिल्म का राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किया। यह श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म थी, जिसमें उनकी खुद की आवाज थी।
  • वर्ष 1985 से 1992 तक, वह बॉलीवुड में सबसे ज्यादा भुगतान लेने वाली अभिनेत्री थीं।
  • वह बोनी कपूर को “पापा” कहकर संबोधित करती थीं।
  • बॉलीवुड फिल्म “आखिरी रास्ता” (1986) में श्रीदेवी की आवाज मशहूर अभिनेत्री रेखा ने डब्ड की थी।

विज्ञापन
  • जब वह लंदन में “लम्हे” फिल्म की शूटिंग कर रहीं थीं तो उन्हें खबर मिली की उनके पिता का निधन हो गया है। श्रीदेवी ने फिल्म से 16 दिनों का ब्रेक लिया और अपने पिता के अनुष्ठानों को पूरा करने के बाद वह वापस लंदन लौट गई।
  • वर्ष 1993 में, उन्होंने बॉलीवुड फिल्म “रूप की रानी चोरों का राजा” (1961) में अभिनय किया, जो भारत की सबसे महंगी फिल्मों में से एक थी। हालांकि बॉक्स ऑफिस पर फिल्म असफल रही, लेकिन फिल्म आलोचकों ने श्रीदेवी के कार्य की काफी प्रशंसा की।    श्रीदेवी फिल्म रूप की रानी चोरों का राजा में
  • वर्ष 1986 में, बॉलीवुड फिल्म “भगवान दादा” में ऋतिक रोशन ने पहली बार श्रीदेवी के साथ अभिनय किया।   श्रीदेवी और ऋतिक रोशन फिल्म भगवान दादा में
  • श्रीदेवी को दोहरी भूमिकाओं की रानी के रूप में भी जाना जाता था, क्योंकि उन्होंने बॉलीवुड फिल्मों में 7 से अधिक बार दोहरी भूमिकाएं निभाई थी।
  • उनकी मां राजेश्वरी ने एस. एस. वासन की तेलुगू हिट फिल्म “शांति निवासम ” (1960) में विशेष अनावरण किया था। इस फिल्म को बाद में हिंदी फिल्म “घराना” के रूप में बनाया गया था।
  • बालू महेन्द्रू की हिंदी फिल्म “सदमा” के लिए डिंपल कपाड़िया उनकी पहली पसंद थीं, यह तमिल फिल्म “मोन्द्राराम पिराई” (1982) का रीमेक थी। हालांकि, उस समय डिंपल बॉलीवुड फिल्म “सागर” का फिलमांकन कर रही थीं, तो उन्होंने इस फिल्म को करने से इनकार दिया था, फिर बाद में यह फिल्म श्रीदेवी को मिली।
  • हालांकि, बॉलीवुड फिल्म “जूली” (1975) को श्रीदेवी की पहली हिंदी फिल्म के रूप में जाना जाता है, लेकिन अशोक कुमार की बॉलीवुड फिल्म “रानी मेरा नाम” (1972) में भी उन्होंने अभिनय किया था, जहां वह पहली बार एक बाल कलाकार के रूप में दिखाई दी थीं। रानी मेरा नाम (1972)
  • 1980 दशक के मध्य में, रमेश सिप्पी ने श्रीदेवी और अमिताभ बच्चन के साथ एक फिल्म बनाने की घोषणा की थी। लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने इस फिल्म के शुभारंभ पर एक विशेष गीत “जुम्मा चुम्मा दे दे” लिखा था। हालांकि, किसी कारण वश यह फिल्म नहीं बन पाई और फिर बाद में यह गीत रोमेश शर्मा की फिल्म “हम” में इस्तेमाल किया गया था।
  • श्रीदेवी और अमिताभ बच्चन, 80 के दशक के दो सुपरस्टार थे। हालांकि, वे शायद ही कभी एक साथ देखे गए हो, उन्होंने सिर्फ तीन फिल्मों में एक साथ काम किया- इंकलाब, आखिरी रास्ता और खुदा गवाह। वर्ष 2012 में आई बॉलीवुड फिल्म “इंग्लिश विंग्लिश” में भी दोनों एक साथ देखे गए थे, हालांकि अमिताभ बच्चन इस फिल्म में एक अतिथि भूमिका में थे।
  • उन्हें बॉलीवुड फिल्म रंगीला, बाग़बान, बाज़ीगर और मोहब्बतें की पेशकश की गई थीं, लेकिन उन्होंने इसे करने से इनकार कर दिया था।
  • वह प्लास्टिक सर्जरी की वजह से मीडिया में काफी सुर्खियों में रहती थी, सूत्रों के अनुसार उन्होंने अपनी नाक और होंठ की सर्जरी करवाई थी।  श्रीदेवी प्लास्टिक सर्जरी
  • श्रीदेवी की बड़ी-बड़ी आँखें इतनी आकर्षक थीं कि सब उनकी आँखों पर मोहित हो जाते थे।   श्रीदेवी की आकर्षक आँखें
  • वर्ष 2012 में, 15 साल के अंतराल के बाद, श्रीदेवी ने बॉलीवुड फिल्म “इंग्लिश विंग्लिश” के साथ फिल्म उद्योग में वापसी की। भारत और दुनिया भर के लोगों ने इस फिल्म के लिए उनकी काफी प्रशंसा की। फिल्म उस वर्ष के लिए अकादमी पुरस्कारों (oscar) में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि बन गई थी।  इंग्लिश विंग्लिश
  • स्टीवन स्पीलबर्ग ने उन्हें फिल्म “जुरासिक पार्क” में एक भूमिका की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने इसे करने से इनकार कर दिया था, क्योंकि इस फिल्म में उनकी प्रमुख भूमिका नहीं थी।  श्रीदेवी स्टीवन स्पीलबर्ग के साथ
  • वह फिल्म ‘बाजीगर’ और ‘बेटा’ में मुख्य भूमिकाओं के लिए पहली पसंद थीं, लेकिन कुछ कारणों से ऐसा नहीं हुआ।
  • उन्हें ‘चालबाज़’ में अपने डबल-रोल के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला, हालांकि इस फिल्म के प्रसिद्ध बारिश गीत “ना जाने कहां से आई है” के फिल्मांकन के दौरान उन्हें 103 डिग्री बुखार हो गया था।

  • जब वह बॉलीवुड फिल्म उद्योग में आईं तब उन्होंने हिंदी बोलनी नहीं आती थीं, और वह अपने संवादों के लिए डबिंग का इस्तेमाल किया करती थी।
  • आनंद एल राय की फिल्म जीरो (अभिनेता शाहरुख खान) उनकी आखिरी फिल्म थी। इस फिल्म में उनकी एक छोटी सी झलक है।
  • 24 फरवरी 2018 को, अपने पति के भतीजे मोहित मारवाह की दुबई में शादी समारोह में भाग लेने के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। फोरेंसिक रिपोर्टों के अनुसार, उनकी मृत्यु पानी के टब में डूबने से हुई थी। इससे पहले उनकी मौत का कारण कार्डिएक अरेस्ट (हृदय-गति रुक जाना) बताया गया था।

  • 28 फरवरी 2018 को, मुंबई में पद्मश्री से सम्मानित श्रीदेवी को पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। वह तिरंगे में लिपटी हुई थीं और लाल कानजीवरम साड़ी पहने हुए थीं। श्रीदेवी के पार्थिव शरीर को अंधेरी के लोखंडवाला कॉम्प्लैक्स के सेलेब्रेशन स्पोर्ट्स क्लब में ले जाया गया था। सेलिब्रेशन क्लब से तिरंगे में लपेटकर उनका पार्थिव शरीर “विले पार्ले” के सेवा समाज शवदाह गृह में अंतिम संस्कार के लिए लाया गया था। उनका अंतिम संस्कार हिंदू धर्म के अनुसार हुआ था। उनके पार्थिव शरीर को सफेद फूलों से सजे शववाहन में रख कर विले पार्ले के पवन हंस श्मशान में ले जाया गया था।

  • श्रीदेवी अब हमारे बीच में भले ही न हो, लेकिन उनके द्वारा निभाए गए किरदार हमेशा लोगों के दिलो पे राज करेंगे।

विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *