Menu

Kanhaiya Kumar Biography in hindi | कन्हैया कुमार जीवन परिचय

कन्हैया कुमार

जीवन परिचय
व्यवसाय छात्र, कार्यकर्ता, राजनीतिज्ञ
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 167
मी०- 1.67
फीट इन्च- 5’ 6”
वजन/भार (लगभग)60 कि० ग्रा०
शारीरिक संरचना (लगभग)- छाती: 38 इंच
- कमर: 32 इंच
- Biceps: 12 इंच
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि जनवरी 1987
आयु (वर्ष 2018 के अनुसार)30 वर्ष
जन्मस्थान बरौनी, बेगूसराय, बिहार, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर बरौनी, बेगूसराय, बिहार, भारत
राशिज्ञात नहीं
स्कूल आर. के. सी. हाई स्कूल बरौनी, बरौनी, बेगूसराय, बिहार में
कॉलेज • ग्रेजुएशन - कॉलेज ऑफ कॉमर्स, पटना, बिहार
• पोस्ट ग्रेजुएशन- मगध पीएचडी- युनिवर्सिटी, गया, बोध गया, बिहार
• इंटरनेशनल स्टडीज स्कूल जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली, भारत
शैक्षणिक योग्यता अफ्रीकी अध्ययन में पीएचडी
धर्म हिन्दू
जाति भूमिहार ब्राह्मण [1]News18
खाद्य-आदत मांसाहारी
शौक अभिरुचि थिएटर करना और भोजन बनाना
विवाद 13 फरवरी 2016 को, उन्हें छात्र रैली में राष्ट्र विरोधी नारे लगाने के लिए गिरफ्तार किया गया था।
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारी
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
गर्लफ्रेंड ज्ञात नहीं
परिवार
पत्नी कोई नहीं
माता-पिता पिता - जयशंकर सिंह (एक किसान)
कन्हैया कुमार के पिता
माता - मीना देवी (एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता)
कन्हैया कुमार की माता, भाई और बहन
भाई-बहन भाई - प्रिंस (छोटा, प्रतिस्पर्धी प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं), मणिकांत (असम में एक कंपनी में पर्यवेक्षक)
बहन - नाम ज्ञात नहीं

कन्हैया कुमार

कन्हैया कुमार से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या कन्हैया कुमार धूम्रपान करते हैं ? नहीं
  • क्या कन्हैया कुमार शराब पीते हैं ? नहीं
  • वर्तमान में, वह जेएनयूएसयू के अध्यक्ष और अखिल भारतीय छात्र संघ (एआईएसएफ) के सदस्य भी हैं। एआईएसएफ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) का एक छात्र संगठन है।
  • फरवरी 2016 में, कन्हैया पर छात्र रैली में भारत विरोधी नारे लगाने के लिए राजद्रोह का आरोप लगाया गया। जिसके चलते उन्हें 6 महीने की सजा सुनाई गई, क्योंकि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला था। एक वीडियो जिसने मीडिया में तहलका मचा दिया था, एक डिक्टेड वीडियो जो राष्ट्रीय समाचार चैनलों पर भी दिखाई गई थी।

  • सुनवाई के लिए कोर्ट में जाते हुए, कन्हैया कुमार पर पटियाला हाउस कोर्ट में वकीलों के एक समूह हमला कर दिया। उस समय वह पुलिस हिरासत में थे। एक जाँच में तीन वकीलों ने अपना जुर्म स्वीकार किया।

  • कन्हैया की गिरफ्तारी के बाद, जेएनयू के छात्रों ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू किया और कन्हैया की जमानत की मांगी। जेएनयू छात्रों के मुताबिक, कन्हैया को राजनेताओं द्वारा फंसाया गया है।
  • उनकी गिरफ्तारी के बाद, उनके माता-पिता ने कहा, “कन्हैया राष्ट्र विरोधी नारे लगाकर कभी भी देश की गरिमा को खंडित नहीं कर सकता और न ही देश को भूल सकता है, उसने कभी भी हमें अपमानित नहीं किया है”।
  • उनके पिता लकवे की बीमारी से पीड़ित हैं और कई सालों से बिस्तर पर ही हैं।
  • उनकी मां एक आंगनवाड़ी में काम करती है।
  • स्कूली दिनों में, कन्हैया थिएटर करते थे। वह अधिकतर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित नाटकों का मंचन करते थे।
  • 3 मार्च 2016 को, दिल्ली के तिहाड़ जेल से रिहा होने के बाद, कन्हैया ने जेएनयू परिसर में एकत्र छात्रों को एक भाषण दिया।

सन्दर्भ   [ + ]

1. News18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *