Menu

A. R. Rahman Biography in Hindi | ए. आर. रहमान जीवन परिचय

ए. आर. रहमान

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम अल्लाह रक्खा रहमान
उपनाम इसाई पुयाल और मद्रास के मोजार्ट
व्यवसाय संगीत निर्देशक, गायक
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 165
मी०- 1.65
फीट इन्च- 5’ 5"
वजन/भार (लगभग)70 कि० ग्रा०
शारीरिक सरंचना (लगभग)- छाती : 39 इंच
- कमर : 33 इंच
- Biceps : 12 इंच
आँखों का रंग भूरा
बालों का रंग काला
करियर
डेब्यू संगीत निर्देशक के रूप में : फिल्म - रोजा (1992, तमिल और हिंदी)
 ए. आर. रहमान की डेब्यू फिल्म रोजा
एल्बम : वंदेमातरम (1997)
वंदेमातरम (1997)
पुरस्कार/सम्मान राजकीय पुरस्कार
• वर्ष 1995 में, तमिलनाडु सरकार द्वारा उन्हें संगीत के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए "क्लाइममानी" पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2000 में, उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2001 में, उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा संगीत के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए "अवध सम्मान" से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2004 में, उन्हें मध्य प्रदेश सरकार द्वारा संगीत के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए "राष्ट्रीय लता मंगेशकर" पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2010 में, उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।
फिल्मफेयर पुरस्कार
• वर्ष 2009 में, उन्हें फिल्म स्लमडॉग मिलिनेयर के सर्वश्रेष्ठ गीत "जय हो" के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2011 में, उन्हें फिल्म 127 Hours के सर्वश्रेष्ठ गीत "If I Rise" के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार से नामांकित किया गया।
बाफ्टा (BAFTA) पुरस्कार
• वर्ष 2009 में, उन्हें फिल्म स्लमडॉग मिलिनेयर के सर्वश्रेष्ठ संगीत के लिए बाफ्टा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
ग्रेमी पुरस्कार
• वर्ष 2009 में, उन्हें फिल्म स्लमडॉग मिलिनेयर के सर्वश्रेष्ठ गीत और बेहतरीन साउंडट्रैक के लिए ग्रेमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
राष्ट्रीय पुरस्कार
• वर्ष 1992 में, उन्हें फिल्म रोजा के सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 1996 में, उन्हें फिल्म मिनसारा कनावउ के सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2001 में, उन्हें फिल्म लगान के सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2002 में, उन्हें फिल्म Kannathil Muthamittal के सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2017 में, उन्हें फिल्म Kaatru Veliyidai के सर्वश्रेष्ठ संगीत निर्देशक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
• वर्ष 2017 में, उन्हें फिल्म मोम में सर्वश्रेष्ठ पार्श्व गायक के रूप में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 6 जनवरी 1967
आयु (2018 के अनुसार)51 वर्ष
जन्मस्थान चेन्नई, तमिलनाडु, भारत
राशि मकर
हस्ताक्षर ए. आर. रहमान हस्ताक्षर
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर चेन्नई, तमिलनाडु, भारत
विद्यालय पद्म शेषदात्री बाल भवन, चेन्नई
महाविद्यालय/विश्वविद्यालय • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज, चेन्नई
• ट्रिनिटी कॉलेज ऑफ म्यूजिक, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूनाइटेड किंगडम
शैक्षणिक योग्यता पश्चिमी शास्त्रीय संगीत में डिग्री
धर्म इस्लाम (हिन्दू से धर्म परिवर्तित)
खाद्य आदत मांसाहारी
पता • कोडंबक्कम, चेन्नई
ए. आर. रहमान का घर
• लॉस एंजलिस
ए. आर. रहमान का घर लॉस एंजलिस में
शौक/अभिरुचिकीबोर्ड बजाना
विवाद पैगंबर मुहम्मद पर आधारित बायोपिक "मुहम्मद: भगवान का संदेशवाहक" के संगीत को लिखने के लिए रहमान के खिलाफ एक फतवा जारी किया गया था।
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
गर्लफ्रेंड एवं अन्य मामले ज्ञात नहीं
परिवार
पत्नीसायरा बानो
ए. आर. रहमान अपनी पत्नी के साथ
बच्चे बेटा - अमीन
बेटी - खतिजा और रहीमा
ए. आर. रहमान अपने परिवार के साथ
माता-पिता पिता - आर. के. शेखर (संगीतकार)
माता - करीमा बेगम
ए. आर. रहमान अपनी माँ के साथ
भाई-बहन भाई - कोई नहीं
बहन - ए. आर. रेहाना, फातिमा रफीक और इशरत क़ादरी
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा भोजन पालक पनीर और रसम-चावल
पसंदीदा संगीतकार इलयाराजा, मोहम्मद रफ़ी, माइकल जैक्सन
पसंदीदा स्थल चेन्नई, मुंबई और लंदन
धन संबंधित विवरण
आय (लगभग)₹5-6 करोड़ प्रति फिल्म
कुल संपत्ति (लगभग)₹163 करोड़

ए. आर. रहमान

ए. आर. रहमान से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या ए. आर. रहमान धूम्रपान करते हैं ?: नहीं
  • क्या ए. आर. रहमान शराब पीते हैं ?: नहीं
  • धर्म परिवर्तन से पहले उन्हें ए. एस. दिलीप कुमार से जाना जाता था, लेकिन हिन्दू धर्म से इस्लाम धर्म अपनाने के बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर ए. आर. रहमान रख लिया।
  • उनका बचपन मुश्किलों भरा था क्योंकि जब वह 9 वर्ष के थे तब उनके पिता का देहांत हो गया था। अपने पिता की मृत्यु के बाद परिवार की सारी जिम्मेदारी उन पर आ गई थी, जिसके चलते शुरुआत में पैसा कमाने के लिए वह अपने पिता का कीबोर्ड बजाते थे।

    ए. आर. रहमान की बचपन की फोटो

    ए. आर. रहमान की बचपन की फोटो

  • उन्होंने अपनी बोर्ड परीक्षा में 62% अंक प्राप्त किए।
  • वह एक कंप्यूटर इंजीनियर बनने की इच्छा रखते थे।
  • अपने पिता के पद चिन्हों पर चलकर, उन्होंने मास्टर धनराज से संगीत में शुरुआती प्रशिक्षण प्राप्त किया।
  • रिकॉर्ड प्लेयर के संचालक के रूप में उन्हें ₹50 पारितोषिक मिलता था।
  • वर्ष 1984 से 1988 तक, वह “रूट्स” नामक बैंड का हिस्सा थे। इस अवधि के दौरान, उन्होंने 10 से 12 कन्नड़ फिल्मों के लिए कीबोर्ड बजाया था।

    ए. आर. रहमान रूट्स बैंड के साथ

    ए. आर. रहमान रूट्स बैंड के साथ

  • उसके बाद, वह “नेमसिस एवेन्यू” नामक रॉक बैंड का हिस्सा बने, जहां उन्होंने एक निर्माता के रूप में कार्य किया और एक संगीत कार्यक्रम ‘जिव लाइव’ के लिए प्रदर्शन किया। ए. आर. रहमान नेमसिस एवेन्यू रॉक बैंड के साथ
  • वर्ष 1987 में, उन्होंने विज्ञापनों के लिए लघु गीत लिखना शुरू किया, उनमें से सबसे पहले उन्होंने Alwyn’s की घड़ी के विज्ञापन के लिए लघु गीत लिखा। इसके बाद उन्होंने 5 वर्षों की अवधि में लगभग 300 लघु गीत बनाए।
  • वर्ष 1989 में, उन्होंने अपने परिवार के साथ हिन्दू धर्म से इस्लाम धर्म में परिवर्तन कर लिया था, क्योंकि जब उनकी बहन को एक घातक बीमारी ने घेर लिया था तब पीर क़ादरी (जिन्हे शेख़ अब्दुल क़ादिर जीलानी के नाम से जाना जाता था) की दुआओं से वह ठीक हो गई थीं।
  • वर्ष 1991 में, उनकी मुलाकात निर्माता शारदा त्रिलोक से हुई, जिन्होंने रहमान को अपने चचेरे भाई मणिरत्नम से मिलवाया, जहां रहमान ने अपने प्रदर्शन से मणिरत्नम को इतना प्रभावित किया कि उन्होंने रहमान को फिल्म रोजा (1992) का संगीत देने के लिए चुना। वर्ष 2005 में, फिल्म रोजा के गीत “छोटी सी आशा” को TIME के “10 सर्वश्रेष्ठ साउंडट्रैक” के बीच सूचीबद्ध किया गया।
  • बहुत कम लोग जानते हैं कि एक संगीतकार के रूप में रहमान की पहली फिल्म मोहनलाल अभिनीत “योधा” थी, जोकि एक मलयालम फिल्म थी।
  • वर्ष 2004 तक, वह दुनिया के सभी शीर्ष रिकॉर्डिंग कलाकारों में से एक बन गए थे, तब तक उन्होंने लगभग 200 मिलियन कैसेट और साउंडट्रैक के 150 मिलियन रिकॉर्डिंग को बेच चुके थे।
  • हालांकि, वह संगीत की सभी पहलुओं में लिखना पसंद करते हैं, लेकिन उन्हें रोमांटिक गीत बहुत पसंद हैं।
  • वर्ष 2008 में, उन्होंने चेन्नई में के. एम. कॉलेज ऑफ म्यूजिक एंड टेक्नोलॉजी की स्थापना की, जिसका उद्घाटन मुकेश अंबानी ने किया था। ए. आर. रहमान के कॉलेज के. एम. कॉलेज ऑफ म्यूजिक एंड टेक्नोलॉजी का उद्घाटन करते मुकेश अंबानी
  • उनके ऑस्कर पुरस्कार विजेता गीत “जय हो” को शुरुआत में बॉलीवुड फिल्म युवराज (2008) के लिए बनाया गया था, लेकिन बाद में यह स्लमडॉग मिलियनेयर (2008) का हिस्सा बना।

विज्ञापन
  • वर्ष 2012 में, उन्हें व्हाइट हाउस में संयुक्त राज्य अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा से क्रिसमस कार्ड और रात्रिभोज का निमंत्रण मिला।
  • वह अपने बेटे अमीन के साथ अपना जन्मदिन (6 जनवरी) साझा करते हैं।
  • वह डब्ल्यूएचओ की “Stop TB Partnership” के वैश्विक राजदूत हैं और भारत में “Save the Child” के समर्थक हैं।
  • वर्ष 2013 में, कनाड़ा के मार्कहम, ओन्टारियो (Markham Ontario, Toronto) में उनके सम्मान में एक सड़क का नाम रखा गया था।

    ए. आर. रहमान के सम्मान में कनाड़ा के मार्कहम, ओन्टारियो की सड़क का नाम रखा

    ए. आर. रहमान के सम्मान में कनाड़ा के मार्कहम, ओन्टारियो की सड़क का नाम रखा

  • अन्य संगीतकारों के विपरीत वह रात में संगीत लिखना पसंद करते हैं।
  • उनका पसंदीदा राग ‘सिंधु भैरवी’ है।
  • फिल्म निर्माता शेखर कपूर के साथ मिलकर उन्होंने एक सोशल मीडिया पर “QYUKI” मंच की शुरुआत की।

    ए. आर. रहमान फिल्म निर्माता शेखर कपूर के साथ

    ए. आर. रहमान फिल्म निर्माता शेखर कपूर के साथ

  • 20 जनवरी 2017 को, उन्होंने नादिगर संगम के सदस्यों के साथ जल्लिकट्टु (एक बैल टमिंग इवेंट) पर प्रतिबंध के खिलाफ तमिलनाडु के लोगों का समर्थन करने के लिए एक दिवसीय उपवास रखा। जल्लिकट्टु (एक बैल टमिंग इवेंट) पर प्रतिबंध के खिलाफ ए. आर. रहमान का ट्वीट
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *