Menu

N. D. Tiwari Biography in Hindi | एन. डी. तिवारी जीवन परिचय

एन. डी. तिवारी

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम नारायण दत्त तिवारी
व्यवसाय भारतीय राजनेता
पार्टी/दल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
राजनीतिक यात्रा • वर्ष 1952 में, प्रजा समाजवादी पार्टी के टिकट पर नैनीताल निर्वाचन क्षेत्र से एक विधायक के रूप में चुने गए।
• वर्ष 1957 में, वह फिर से नैनीताल निर्वाचन क्षेत्र के विधायक के रूप में चुने गए और विधानसभा में विपक्ष के नेता बने।
• वर्ष 1963 में, वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए।
• वर्ष 1965 में, वह काशीपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक के रूप में चुने गए और उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया।
• वर्ष 1969-1971 में, वह भारतीय युवा कांग्रेस पार्टी के पहले अध्यक्ष बने।
• जनवरी 1976 में, वह पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
• वर्ष 1979-1980 में, उन्होंने चौधरी चरण सिंह सरकार में वित्त और संसदीय मंत्री के रूप में कार्य किया।
• अगस्त 1984 में, वह दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
• जून 1988 में, वह तीसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने।
• वर्ष 1994 में, उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया।
• वर्ष 1995 में, उन्होंने वरिष्ठ कांग्रेस नेता अर्जुन सिंह के साथ मिलकर स्वयं की पार्टी "अखिल भारतीय इंदिरा कांग्रेस" (तिवारी) का गठन किया।
• वर्ष 1996 में, उन्हें 11वीं लोकसभा के लिए चुना गए।
• वर्ष 1997 में, वह फिर से कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए।
• वर्ष 1999 में, वह 13 वीं लोकसभा के लिए चुने गए।
• वर्ष 2002 में, वह उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप चुने गए।
• अगस्त 2007 में, वह आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किए गए।
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 165
मी०- 1.65
फीट इन्च- 5’ 5”
वजन/भार (लगभग)70 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग सफेद
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 18 अक्टूबर 1925
मृत्यु तिथि18 अक्टूबर 2018
जन्मस्थान बलुति, संयुक्त प्रांत, ब्रिटिश भारत (अब नैनीताल जिले, उत्तराखंड)
आयु (मृत्यु के समय)93 वर्ष
मृत्यु स्थानMax Super Speciality Hospital, New Delhi
मृत्यु कारणलंबी बीमारी
राशि तुला
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर नैनीताल, उत्तराखंड, भारत
स्कूल/विद्यालय एम. बी. स्कूल, हल्द्वानी
ई.एम. हाई स्कूल, बरेली
C.R.S.T हाई स्कूल, नैनीताल
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयइलाहाबाद विश्वविद्यालय
शैक्षिक योग्यता एम. ए (राजनीति विज्ञान) इलाहाबाद विश्वविद्यालय से
एल. एल. बी इलाहाबाद विश्वविद्यालय से
राजनीतिक आरम्भ वर्ष 1947 में, जब उन्हें इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था।
परिवार पिता- पूर्णानंद तिवारी (वन विभाग में एक अधिकारी थे)
माता- नाम ज्ञात नहीं
भाई- ज्ञात नहीं
बहन- ज्ञात नहीं
धर्म हिन्दू
पतासी 1/9, तिलक लेन, नई दिल्ली
1 ए, मॉल अवेन्यू, लखनऊ, उत्तर प्रदेश, भारत
विवाद • दिसंबर 2009 में, उन्हें आंध्र प्रदेश के राज्यपाल के पद से इस्तीफा देना पड़ा, उनकी कथित सेक्स सीडी सामने आने से पूरे देश की राजनीति में हलचल मच गई थी। सीडी में एनडी तिवारी तीन महिलाओं संग आपत्तिजनक स्थिति में दिखाई दिए। इस वीडियो क्लिप को एक तेलुगू चैनल "एबीएन आंध्र ज्योति" ने प्रसारित किया था
एन. डी. तिवारी सेक्स कांड
• वर्ष 2008 में, रोहित शेखर तिवारी ने यह दावा किया कि एन. डी. तिवारी उनके जैविक पिता हैं। इसके बाद एक डीएनए टेस्ट किया गया जिसमें एन. डी. तिवारी को उनका जैविक पिता और उज्ज्वला तिवारी को उनकी जैविक मां के रूप में व्यक्त किया गया। 3 मार्च 2014 को एन. डी. तिवारी ने यह स्वीकार किया कि रोहित शेखर उसका बेटा है, और उन्होंने कहा, "मैंने स्वीकार किया है कि रोहित शेखर मेरा बेटा है। डीएनए टेस्ट भी यह साबित करती है कि वह मेरा जैविक बेटा है।"
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पत्नीसुशीला तिवारी (1954-1993, मृत्यु)
उज्ज्वला तिवारी ( 2014)
एन डी तिवारी अपनी दूसरी पत्नी उज्ज्वला तिवारी के साथ
बच्चे बेटा- रोहित शेखर तिवारी
एन डी तिवारी अपने बेटे रोहित शेखर तिवारी के साथ
बेटी- कोई नहीं
धन संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग)सूत्रों के अनुसार उनकी पैतृक संपत्ति लगभग सौ करोड़ रुपए के आस-पास है।

एन. डी. तिवारी

विज्ञापन

एन. डी. तिवारी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या एन. डी. तिवारी धूम्रपान करते हैं ? ज्ञात नहीं
  • क्या एन. डी. तिवारी शराब पीते हैं ? ज्ञात नहीं
  • उनका जन्म नैनीताल जिले के गांव बलुति में जमींदारों के एक परिवार में हुआ था।
  • ब्रिटिश काल के दौरान उनके पिता पूर्णानंद तिवारी वन विभाग में एक अधिकारी थे। हालांकि, बाद में उनके पिता ने इस्तीफा दे दिया और असहयोग आंदोलन में शामिल हो गए।
  • तिवारी ने हल्द्वानी, बरेली और नैनीताल के विभिन्न स्कूलों से अपनी शिक्षा प्राप्त की।
  • 14 दिसंबर 1942 को, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान उन्हें ब्रिटिश नीतियों के खिलाफ लिखने के लिए गिरफ्तार किया गया और नैनीताल जेल भेज दिया गया, जहाँ पर उनके पिता को भी बंदी बनाकर रखा गया था।
  • जेल में 15 महीने बिताने के बाद, उन्हें वर्ष 1944 को आजाद कर दिया गया था।
  • उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय में दाखिला लिया और फिर छात्र संघ राजनीति की ओर अपना रुख किया। वर्ष 1947 में, वह इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में भी चुने गए।
  • वर्ष 1945 से 1949 तक तिवारी ने अखिल भारतीय छात्र कांग्रेस के सचिव के रूप में भी कार्य किया।
  • वर्ष 1990 के शुरू में, वह भारत के प्रधानमंत्री पद के लिए अग्रणी थे। हालांकि, पी. वी. नरसिम्हा राव को भारत के प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया गया, क्योंकि वह मात्र 800 मतों से लोकसभा चुनाव हार गए थे।
  • 14 मई 2014 को, 89 वर्ष की आयु में उन्होंने लखनऊ में उज्ज्वला तिवारी (रोहित शेखर की मां) से विवाह कर लिया।  एन. डी. तिवारी अपनी पत्नी के साथ
  • जनवरी 2017 में, उन्होंने विकास के नाम पर भाजपा का समर्थन किया।
  • 20 सितंबर 2017 को, तिवारी को ब्रेन हैमरेज यानी मस्तिष्क आघात का सामना करना पड़ा।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *