Menu

Subhash Chandra Biography in Hindi | सुभाष चंद्रा जीवन परिचय

सुभाष चन्द्रा

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम सुभाष चंद्रा गोयनका
व्यवसाय राजनीतिज्ञ, एस्सेल समूह के अध्यक्ष
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 170
मी०- 1.70
फीट इन्च- 5' 7"
वजन/भार (लगभग)75 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग अर्ध श्वेत
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 30 नवंबर 1950
आयु (2017 के अनुसार)67 वर्ष
जन्मस्थान जिला हिसार, हरियाणा, भारत
राशि धनु
हस्ताक्षर सुभाष चंद्रा हस्ताक्षर
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर जिला हिसार, हरियाणा, भारत
स्कूल/विद्यालय ज्ञात नहीं
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयलागू नहीं
शैक्षिक योग्यता दसवीं (पढ़ाई बीच में ही छोड़ी)
परिवार पिता - नंदकिशोर गोयनका
माता - तारा देवी गोयनका
भाई - लक्ष्मी नारायण गोयल, जवाहर गोयल, अशोक गोयल
सुभाष चंद्र अपने भाईयों के साथ
बहन - कुसुम, उर्मिला, मोहिनी
धर्म हिन्दू
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा राजनीतिक पार्टी बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी)
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
गर्लफ्रेंड एवं अन्य मामले कोई नहीं
पत्नी सुशीला देवी
सुभाष चंद्रा अपनी पत्नी के साथ
बच्चे बेटा - पुनीत गोयनका (ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी), अमित गोयनका (उद्यमी)
सुभाष चंद्रा अपने बेटों के साथ (बाएं ओर अमित) और (दाईं ओर पुनीत)
बेटी - कोई नहीं
धन संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग)₹36,512 करोड़

सुभाष चंद्रा

विज्ञापन

 

 

सुभाष चंद्रा से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या सुभाष चंद्रा धूम्रपान करते हैं ?: नहीं
  • क्या सुभाष चंद्रा शराब पीते हैं ?: नहीं
  • उनका जन्म हरियाणा के हिसार जिले के एक छोटे से गांव के एक बनिया परिवार में हुआ था।
  • वर्ष 1965 में, दसवीं कक्षा को बीच में ही छोड़ने के बाद सुभाष ने अपने परिवार के व्यवसाय को एक कमीशन एजेंट के रूप में संभाला, जो भारतीय खाद्य निगम को चावल की आपूर्ति करता था।
  • इसके बाद उन्होंने एस्सेल पैकेजिंग नाम से स्वयं की विनिर्माण व्यवसायिक कंपनी की स्थापना की, जो टूथपेस्ट और अन्य लचीले पदार्थों के लिए प्लास्टिक ट्यूबों की पैकजिंग करती है।
  • सुभाष ने वर्ष 1989 में एस्सेल वर्ल्ड नामक एक मनोरंजक पार्क की स्थापना की, जिसे उत्तर बॉम्बे में स्थापित किया गया था। एस्सेल वर्ल्ड, मुंबई
  • वर्ष 1992 में, उन्होंने ली का शिंग के साथ भारत के पहले हिंदी भाषा केबल चैनल- ज़ी टीवी को शुरू किया। ज़ी टीवी लोगो पहले और अब
  • उनका टीवी चैनल 959 मिलियन लोगों तक पहुंच गया, जिसके चलते चैनल का प्रसारण 169 देशों में किया जा रहा है।
  • उन्होंने ज़ी चैनल की सफलता के बाद भारत में पहली लॉटरी और पहले डिश टीवी को भी लॉन्च किया।
  • वर्ष 2005 में, उन्होंने दैनिक भास्कर ग्रुप के साथ एक भारतीय ब्रॉडशीट अखबार- डीएनए (डेली न्यूज एंड एनालिसिस) का शुभारंभ किया, जिसे पहली बार मुंबई में प्रकाशित किया गया और उसके बाद अहमदाबाद, पुणे, जयपुर, बेंगलुरु और इंदौर में। डीएनए अखबार
  • उस समाचार पत्र ने “द टाइम्स ऑफ इंडिया” को भी चुनौती दी और भारत में एक ऑल-कलर पेज फॉर्मेट पेश करने वाला पहला अंग्रेज़ी दैनिक ब्रॉडशीट समाचार पत्र बन गया।
  • उन्होंने पहले से विफल वित्त पोषित ट्वेंटी 20 क्रिकेट लीग को फिर से शुरू किया।
  • सुभाष ने युवाओं को प्रोत्साहित करने और जीवन की कठिनाइयों से लड़ने के लिए “डॉ सुभाष चंद्रा शो” का उद्घाटन किया। सुभाष अपने शो के दौरान
  • वर्ष 2004 में, उन्हें ग्लोबल इंडियन एंटरटेनमेंट पर्सनेलिटी ऑफ द ईयर अवार्ड से सम्मानित किया गया। सुभाष चंद्रा ग्लोबल इंडियन एंटरटेनमेंट पर्सनेलिटी ऑफ द ईयर अवार्ड ग्रहण करते हुए
  • उन्हें मीडिया के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जैसे कि- अर्न्स्ट एंड यंग के द्वारा वर्ष के सर्वश्रेष्ठ उद्यमी और वर्ष 1999 में बिजनेस स्टैंडर्ड के द्वारा बिजनेस ऑफ द ईयर के रूप में, स्टार गिल्ड अवार्ड, वर्ष 2010 में भारतीय न्यूज ब्रॉडकास्टिंग पुरस्कार और वर्ष 2011 में अंतर्राष्ट्रीय एमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
  • उनकी संस्मरण शीर्षक वाली पुस्तक “जेड फैक्टर: माई जर्नी एज द राँग मैन ए द राइट टाइम” का सह-संपादन प्रांजल शर्मा ने किया और जिसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 रेसकोर्स रोड, नई दिल्ली में विमोचन किया। सुभाष चंद्रा की पुस्तक "जेड फैक्टर: माई जर्नी एज द राँग मैन ए द राइट टाइम" को प्रकाशित करते हुए नरेंद्र मोदी
  • उसके एक दिन बाद ज़ी जयपुर साहित्य महोत्सव में उनकी दूसरी पुस्तक का विमोचन किया गया। सुभाष चंद्रा ज़ी जयपुर साहित्य महोत्सव में अपनी पुस्तक का विमोचन करते हुए
  • वर्ष 2013 में, पूर्वी लंदन विश्वविद्यालय के लॉर्ड गुलाम नून (UEL के तत्कालीन कुलपति) ने उन्हें बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डॉक्टरेट उपाधि से सम्मानित किया।
  • उन्होंने देश में नौ व्यवसाय शुरू किए, जिनमें से वह छह में सफल हुए और तीन में विफल हुए।
  • 24 मई 2016 को, उन्होंने कंपनी के निदेशक और गैर-कार्यकारी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया।
  • 11 जून 2016 को वह हरियाणा राज्य से राज्यसभा के संसद सद्स्य चुने गए।
  • वर्ष 2017 में, सुभाष ने अपने तीन भाईयों के साथ एस्सेल ग्रुप की 90 वीं वर्षगांठ पर डीएससी संस्था को ₹5 हजार करोड़ देने का वायदा किया था। सुभाष चंद्रा एस्सेल ग्रुप की 90 वीं वर्षगांठ पर
  • उनके सम्पूर्ण कारोबार में एक अख़बार श्रृंखला- डीएनए, सिटी केबल, प्लेविन नामक ऑनलाइन गेमिंग व्यवसाय, एस्सेल वर्ल्ड नामक थीम पार्क और वाटर किंगडम, शिक्षा चैनल ज़ी लर्न, एसेल प्रोपैक नामक लचीली पैकेजिंग, एस्सेल इन्फ्राप्रोजेक्ट्स, इत्यादि शामिल हैं।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *