Menu

Acharya Balkrishna Biography in Hindi | आचार्य बालकृष्ण जीवन परिचय

 

आचार्य बालकृष्ण

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम बालकृष्ण सुवेदी
व्यवसाय पतंजली आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक और प्राथमिक हितधारक
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 173
मी०- 1.73
फीट इन्च- 5’ 8”
वजन/भार (लगभग)75 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 4 अगस्त 1972
आयु (वर्ष 2017 के अनुसार) 45 वर्ष
जन्मस्थान हरिद्वार, भारत
राशि सिंह
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर हरिद्वार, भारत
स्कूल/विद्यालय कालवा गुरुकुल, हरियाणा
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयज्ञात नहीं
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
धर्म हिन्दू
परिवार पिता - जय वल्लभ
माता - सुमित्रा देवी
भाई - ज्ञात नहीं
बहन - ज्ञात नहीं
विवाद • अपनी शैक्षणिक योग्यता और भारतीय नागरिकता के चलते वह काफी विवादों में रहे।
• वर्ष 2011 में, सीबीआई ने बालकृष्ण के खिलाफ जालसाजी और धोखाधड़ी का मामला दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया। एजेंसी ने दावा किया कि बालकृष्ण का पासपोर्ट फर्जी हाई स्कूल और स्नातक प्रमाणपत्रों के आधार पर जारी किया गया था। सीबीआई जाँच में यह भी पाया गया कि बिना किसी कानूनी अनुमति के उनके पास एक पिस्तौल है।
• मनी लॉंडरिंग के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा बालकृष्ण के खिलाफ एक मामला दायर किया गया था। हालांकि, बाद में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई थी क्योंकि उनके खिलाफ कोई भी सबूत नहीं मिला था।
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
पत्नी ज्ञात नहीं
धन संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग)₹25600 करोड़

आचार्य बालकृष्ण

विज्ञापन

आचार्य बालकृष्ण से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • आचार्य बालकृष्ण ने कालवा गुरुकुल, हरियाणा से शिक्षा प्राप्त की। शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने पौधों के औषधीय मूल्यों का अध्ययन करने के लिए सम्पूर्ण भारत की यात्रा की।
  • वर्ष 1993 में, वह बाबा रामदेव के साथ हिमालय की गुफाओं में रहते थे।
  • जड़ी बूटियों का अध्ययन करने के बाद उन्होंने आयुर्वेदिक दवाओं और उपचार के संगठनों को स्थापित करना शुरू कर दिया।
  • बालकृष्ण और रामदेव ने आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण के लिए एक इकाई “दिव्य फार्मेसी” की स्थापना की।
  • बालकृष्ण एक पत्रिका “योग संदेश” के मुख्य संपादक भी हैं, जो योग और आयुर्वेद को बढ़ावा देती है। उनके द्वारा इस पत्रिका में 41 शोध पत्रों को लिखा गया है, जो आयुर्वेद और योग से संबंधित है।
  • वर्ष 2006 में, Hurun India Rich List की अरबपतियों की सूची में ₹25600 करोड़ सम्पति के साथ बालकृष्ण 48वें पायदान पर थे।
  • जनवरी 2016 तक, उन्हें दुनिया भर की विभिन्न सरकारों द्वारा 13 पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। इनमें से कुछ पुरस्कार इस प्रकार हैं: ब्लूमबर्ग स्पेशल रिकॉग्निशन पुरस्कार, कनाडा इंडियन नेटवर्क सोसाइटी द्वारा सम्मान, नेपाल के कैबिनेट द्वारा सम्मान, भारत गौरव पुरस्कार, इत्यादि।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *