Menu

Arpita Mukherjee Biography in Hindi | अर्पिता मुखर्जी जीवन परिचय

Arpita Mukherjee

जीवन परिचय
व्यवसायअभिनेत्री और पार्श्व गायिका
जानी जाती हैंपश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी के साथ कथित राजकीय स्कूल नौकरी भर्ती घोटाले में गिरफ्तार होने के नाते
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 168
मी०- 1.68
फीट इन्च- 5' 6"
भार/वजन (लगभग)55 कि० ग्रा०
फिगर (लगभग)34-26-34
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
करियर
डेब्यूबंगाली फिल्म: “पार्टनर” (2008)
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 10 जून 1983 (शुक्रवार)
आयु (2022 के अनुसार)39 वर्ष
जन्मस्थान बेलघरिया, पश्चिम बंगाल, भारत
राशि मिथुन (Gemini)
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर बेलघरिया, पश्चिम बंगाल
स्कूल/विद्यालयरामकृष्ण शारदा मिशन सिस्टर निवेदिता गर्ल्स स्कूल, कोलकाता
कॉलेज/विश्वविद्यालयस्कॉटिश चर्च कॉलेज, कोलकाता
जातीयताबंगाली
शौक/अभिरुचियात्रा करना और नृत्य करना
विवाद23 जुलाई 2022 को अर्पिता ने उस समय विवाद को आकर्षित किया जब उन्हें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पश्चिम बंगाल में स्कूल भर्ती घोटाले में कथित रूप से शामिल होने के लिए गिरफ्तार किया था। ईडी ने उनके फ्लैट पर छापा मारा और 21 करोड़ रुपये के सोने के आभूषण सहित 79 लाख, रु. 54 लाख विदेशी मुद्रा और 22 मोबाइल जब्त किए। ईडी ने यह भी कहा कि वह टीएमसी मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी थीं, जिन्हें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 23 जुलाई 2022 को राज्य स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) में शिक्षक भर्ती घोटाले में उनकी कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया था। ईडी ने कहा कि वह 12 शेल कंपनियां भी चलाती हैं। ईडी द्वारा दिए गए एक बयान में कहा गया, हमें अर्पिता के जोका फ्लैट से दस्तावेज मिले हैं, जिससे संकेत मिलता है कि वह वित्तीय पैंतरेबाज़ी के लिए कई मुखौटा कंपनियों का संचालन करती हैं। [1]The Times of India 27 जुलाई 2022 को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने एक और छापे मारे जहाँ पश्चिम बंगाल के उत्तर 24-परगना में अर्पिता मुखर्जी के बेलघोरिया फ्लैट से 5 किलो सोना के अलावा 28 करोड़ रुपये नकद बरामद किए। एजेंसी के अनुसार, उनके परिसर से बरामद कुल नकदी लगभग रु. 50 करोड़ था। कथित तौर पर ईडी के अधिकारियों ने मुखर्जी के आवास से बरामद नकदी और आभूषणों से भरी कम से कम 10 ट्रंक के साथ ट्रक को लोड किया। [2]The Hindustan Times
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
विवाह तिथि27 दिसंबर 2013 (शुक्रवार)
परिवार
पति नाम ज्ञात नहीं (बिजनेसमैन)
बच्चेज्ञात नहीं
माता/पितापिता- नाम ज्ञात नहीं (केंद्र सरकार के कर्मचारी के रूप में काम किया)
माता- मिनाती मुखर्जी (गृहिणी)
Arpita Mukherjee with her mother
भाई/बहनज्ञात नहीं

Arpita Mukherjee

अर्पिता मुखर्जी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां

  • अर्पिता मुखर्जी एक भारतीय अभिनेत्री और गायिका हैं जिन्हें टीएमसी मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी होने के लिए जाना जाता है। जिन्हें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 23 जुलाई 2022 को पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) में शिक्षक भर्ती घोटाले में उनकी कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया था। ईडी ने उनके फ्लैट पर छापा मारा और 21 करोड़ रुपये, 79 लाख रुपये के सोने के आभूषण सहित,  54 लाख विदेशी मुद्रा और 22 मोबाइल जब्त किए।

  • अर्पिता मुखर्जी का जन्म और पालन-पोषण कोलकाता के उत्तरी उपनगर बेलघोरिया में एक मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था। Arpita Mukherjee's childhood picture
  • पढ़ाई के दौरान ही वर्ष 2004 में उन्होंने मॉडलिंग करना शुरू कर दिया था। एक साक्षात्कार में उनके कॉलेज के दोस्तों ने बताया कि वह एक होशियार और होनहार छात्रा थीं।
  • उनके पिता की मृत्यु के बाद उन्हें उनके पिता की नौकरी की पेशकश की गई थी, लेकिन उन्होंने नौकरी करने से मना कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने अभिनय और मॉडलिंग के ओर रुख किया।
  • अर्पिता ने नेल आर्टिस्ट के तौर पर भी काम किया है। कुछ सूत्रों के अनुसार उन्होंने पटुली, लेक व्यू रोड और बारानगर में तीन नेल सैलून खोले हैं। एक इंटरव्यू में उनकी मां ने कहा था कि अर्पिता का एक प्रोडक्शन हाउस भी चलाती हैं।
  • कुछ सूत्रों के मुताबिक उनकी शादी झारग्राम के एक बिजनेसमैन से हुई थी, लेकिन शादी के कुछ महीनों बाद ही अर्पिता पति से अलग हो गईं और कोलकाता चली आईं।
  • वर्ष 2008 में उन्होंने अपने अभिनय करियर की शुरुआत बंगाली फिल्म “पार्टनर” में रीना के किरदार से की। वह मामा भगने (2009), जीना द एंडलेस लव (2009), भूत इन रोजविले (2010), और बिदेहर खोंजे रवींद्रथ (2011) सहित अन्य बंगाली फिल्मों में दिखाई दीं। Arpita Mukherjee in the film ‘Mama Bhagne’ (2009)
  • उन्होंने बंदे उत्कल जननी (2008), प्रेम रोगी (2009), मु काना एते खराप (2010), केमिटी ए बंधन (2011), और राजू आवारा (2012) सहित उड़िया फिल्मों में भी काम किया है। Arpita Mukherjee in the film ‘Raju Awara’
  • वर्ष 2010 के करीब अर्पिता पार्थ चटर्जी के संपर्क में आई थीं। उसके बाद से वह कई कार्यक्रमों में पार्थ के साथ नजर आईं।
  • 2019 और 2020 में होने वाले कोलकाता दुर्गा पूजा समारोह में वह सबसे प्रमुख दुर्गा पूजा समितियों में से एक, ‘नकतला उदयन संघ’ के प्रचार अभियानों की ब्रांड एंबेसडर बनीं। पार्थ चटर्जी उस समय ‘नकतला उदयन संघ’ के मुख्य वित्तपोषक थे। Arpita Mukherjee during the inauguration ceremony of Naktala Udayan Sangha Durga Puja
  • उनकी गिरफ्तारी के बाद पार्थ चटर्जी और अर्पिता की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी जिसमें वह एक ही रंग के कपड़े पहने नजर आ रहे थे। Arpita Mukherjee with Partha Chatterjee
  • 23 जुलाई 2022 को ईडी द्वारा उनकी गिरफ्तारी के बाद, एक वीडियो की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई जिसमें सीएम ममता बनर्जी को अर्पिता के साथ मंच साझा करते हुए देखा गया था। जिसके बाद ममता बनर्जी पर स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया गया था। ममता बनर्जी ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दी और एक इंटरव्यू में कहा,

    मैं कई पूजाओं के उद्घाटन के लिए जाती हूं। मुझे कैसे पता चलेगा कि आयोजकों ने किसे आमंत्रित किया है? मुझे कैसे पता चलेगा कि वह पार्थ की दोस्त थी? मैं अपनी पार्टी के लोगों को भी नहीं बख्शती, अगर उनकी गलती है। दोषी पाए जाने पर मैं अपने मंत्री को न तो बख्शूंगी और न ही छोडूंगी।” Arpita Mukherjee with CM Mamata Banerjee during Durga Puja function

  • उसी दिन अर्पिता को मेडिकल जांच के लिए जोका ईएसआई अस्पताल ले जाया गया। उनके चेकअप के बाद उन्हें 3 अगस्त 2022 तक हिरासत में रखा गया।
  • 25 जुलाई 2022 को उनकी चाची स्वप्ना चक्रवर्ती ने खुलासा किया कि अर्पिता ने पैसे छिपाने के लिए पश्चिम बंगाल के जंगीपारा के मथुराबाटी गांव में अपने घर में भूमिगत बंकर बनवाया है। उन्होंने यह भी दावा किया कि अर्पिता और पार्थ की वजह से उनके कई रिश्तेदारों को नौकरी मिली।
  • उनके साथ काम करने वाले कुछ निर्देशकों ने कहा कि वह अपने शूटिंग सेट पर सेकेंड हैंड कार चलाती थीं। एक अन्य निर्देशक ने कहा कि वह सेट पर सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करती थीं।
  • वह अक्सर अपना जन्मदिन और अन्य त्योहार अनाथालय के बच्चों के साथ मानती हैं। Arpita Mukherjee with the children of the orphanage

सन्दर्भ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *