Menu

Deepa Malik Biography in Hindi | दीपा मलिक जीवन परिचय

दीपा मलिक

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम दीपा मलिक
व्यवसाय भारतीय एथलीट
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 168
मी०- 1.68
फीट इन्च- 5' 6”
वजन/भार (लगभग)60 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
एथलेटिक्स
स्पर्धाएँभाला फेंक, शॉटपुट, तैराकी और मोटरसाइकिल रेसिंग
अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू बीजिंग ओलंपिक 2008
कोच/संरक्षकवैभव सिरोही
रिकॉर्ड्स (मुख्य)• अंतर्राष्ट्रीय खेलों में 18 पदक।
• वर्ष 2016 के पैरालम्पिक खेलों में रजत पदक। पहली भारतीय महिला जिन्होंने पैरालम्पिक खेलों में मेडल (शॉट पुट) जीता।
• वर्ष 2010 को चीन में हुए पैरा एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता।
• वर्ष 2011 में, आईपीसी विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक जीता।
कैरियर टर्निंग प्वाइंटवर्ष 2011 विश्व चैंपियनशिप में, जब उन्होंने शॉट पुट में रजत पदक जीता
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 30 सितंबर 1970
आयु (2017 के अनुसार)47 वर्ष
जन्मस्थान भैंसवाल, सोनीपत जिला, हरियाणा, भारत
राशि तुला
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर भैंसवाल, सोनीपत जिला, हरियाणा, भारत
स्कूल/विद्यालय केन्द्रीय विद्यालय, फोर्ट विलियम, कलकत्ता
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयसोफिया कॉलेज, अजमेर, भारत
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
परिवार पिता - बाल कृष्ण नागपाल (भारतीय सेना)
माता - वीना नागपाल
दीपा मलिक अपने माता-पिता के साथ
बहन- कोई नहीं
भाई - विक्रम नागपाल
धर्म हिन्दू
शौक/अभिरुचिप्रेरणादायक भाषण देना, तैरना, मोटर साइकिल चलाना
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामलेज्ञात नहीं
विवाह तिथि 27 जून 1989
पतिबिक्रम सिंह (भारतीय सेना अधिकारी)
दीपा मलिक अपने पति के साथ
बच्चेबेटा- कोई नहीं
बेटी- अंबिका मलिक, देविका मलिक
दीपा मलिक अपनी बेटियों के साथ

दीपा मलिक

विज्ञापन

दीपा मलिक से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या दीपा मलिक धूम्रपान करती हैं ? ज्ञात नहीं
  • क्या दीपा मलिक शराब पीती हैं ? ज्ञात नहीं
  • वह हरियाणा के सोनीपत जिले में एक हिंदू जाट परिवार में पैदा हुई थीं।
  • वर्ष 1999 में, उन्हें पता चला कि उनके रीढ़ की हड्डी में ट्यूमर और जिसकी वजह से वह चल नहीं सकती। रीढ़ की हड्डी का ट्यूमर ठीक करने के लिए उनकी 31 सर्जरी करनी पड़ी।
  • उन्हें अपनी कमर के नीचे का कोई अंग महसूस नहीं होता।
  • वह भाला फेंक खेल में एशियाई रिकॉर्ड रखती हैं।
  • उन्होंने विभिन्न साहसिक खेलों में भाग लिया है और उन सब में पुरस्कार प्राप्त किया है।
  • दीपा एक उत्साही मोटर-बाइकर हैं। उन्होंने 8 दिनों में 1700 किमी मोटरसाइकिल चलाई है, और वह भी शून्य तापमान वाले परिस्थियों में।
  • गोस्पोर्ट्स फाउंडेशन  पैरा चैंपियंस कार्यक्रम में उनका समर्थन करती है।
  • दीपा मलिक 12 वीं पंचवर्षीय योजना (2012-2017) में शारीरिक शिक्षा और खेल कार्यरत समूह की सदस्य भी रही हैं।
  • वर्ष 2012 में, भारत सरकार ने उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया।   दीपा मलिक अर्जुन पुरस्कार के साथ
  • 12 सितंबर 2016 को, उन्होंने रियो पैरालिंपिक में रजत पदक जीता और पैरालंपिक में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी।   दीपा मलिक रजत पदक के साथ
  • वर्ष 2017 में, उन्हें प्रतिष्ठित पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया।    दीपा मलिक पद्म श्री पुरस्कार प्राप्त करती हुई
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *