Menu

Satwiksairaj Rankireddy Biography in Hindi | सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी जीवन परिचय

Satwiksairaj Rankireddy

जीवन परिचय
अन्य नामसात्विक साई राज रंकीरेड्डी [1]Facebook
व्यवसाय भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 182
मी०- 1.82
फीट इन्च- 6’
भार/वजन (लगभग)75 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
बैटमिंटन
मौजूदा टीमइंडिया
अंतर्राष्ट्रीय डेब्यूएशियाई जूनियर बैडमिंटन चैम्पियनशिप 2015
इवेंट• पुरुष युगल
• मिश्रित युगल
हैंडेडनेस
दाहिने हाथ के खिलाड़ी
हाईएस्ट रैंकिंग• 7 (एमडी 12 नवंबर 2019)
• 19 (एक्सडी 2 फरवरी 2021)
कोच• पुलेला गोपीचंद
• टान किम हर
Satwiksairaj Rankireddy with his coaches Pullela Gopichand (right) and Tan Kim Her (left)
बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (बीडब्ल्यूएफ) टूर्नामेंटबीडब्ल्यूएफ इंटरनेशनल चैलेंज टूर्नामेंट

• वर्ष 2015 में टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल मिश्रित युगल में विनर बने।
• वर्ष 2016 में बांग्लादेश में आयोजित इंटरनेशनल मिश्रित युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2016 में आयोजित टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल पुरुष युगल में विनर बने।
• वर्ष 2016 में आयोजित बांग्लादेश इंटरनेशनल पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2017 में आयोजित वियतनाम इंटरनेशनल पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2019 में आयोजित ब्राजील इंटरनेशनल पुरुष युगल में विजेता बने।

बीडब्ल्यूएफ इंटरनेशनल सीरीज टूर्नामेंट

• वर्ष 2016 में आयोजित मॉरीशस इंटरनेशनल पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सीरीज पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2016 में आयोजित मॉरीशस इंटरनेशनल मिश्रित युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय श्रृंखला मिश्रित युगल में विजेता बने।

बीडब्ल्यूएफ फ्यूचर सीरीज टूर्नामेंट

• वर्ष 2018 में आयोजित हैदराबाद ओपन (सुपर 100) पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2018 में आयोजित सैयद मोदी इंटरनेशनल (सुपर 300) पुरुष युगल में विनर बने।
• वर्ष 2018 में आयोजित थाईलैंड ओपन (सुपर 500) पुरुष युगल में विजेता बने।
• वर्ष 2018 में आयोजित फ्रेंच ओपन (सुपर 750) पुरुष युगल में विजेता बने।
पदकगोल्ड मेडल

• वर्ष 2016 में मॉरीशस में आयोजित इंटरनेशनल मेन्स डबल्स में
• वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सीरीज पुरुष युगल में
• वर्ष 2016 में भारत में आयोजित टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल मेन्स डबल्स में
• वर्ष 2016 में बांग्लादेश के ढाका में आयोजित इंटरनेशनल मेन्स डबल्स में
• वर्ष 2016 में मॉरीशस में आयोजित इंटरनेशनल मिक्स्ड डबल्स में
• वर्ष 2016 में भारत में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सीरीज मिश्रित युगल में
• वर्ष 2016 में बांग्लादेश के ढाका में आयोजित इंटरनेशनल मिक्स्ड डबल्स में
• वर्ष 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल पुरुष युगल गोल्ड कोस्ट में

सिल्वर मेडल

• वर्ष 2018 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल मिश्रित टीम गोल्ड कोस्ट में

कांस्य पदक

• वर्ष 2016 में चीन में आयोजित बैडमिंटन एशिया चैम्पियनशिप मिश्रित टीम में
• वर्ष 2020 में मनीला में आयोजित बैडमिंटन एशिया चैम्पियनशिप पुरुष टीम में
पुरस्कार/उपलब्धियाँअर्जुन पुरस्कार 2020
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 13 अगस्त 2000 (रविवार)
आयु (2020 के अनुसार)21 वर्ष
जन्मस्थान अमलापुरम, आंध्र प्रदेश, भारत
राशि सिंह (Leo)
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर अमलापुरम, आंध्र प्रदेश, भारत
धर्महिन्दू [2]Instagram
स्कूल/विद्यालय• आदित्य पब्लिक स्कूल, अमलापुरम, आंध्र प्रदेश
• चैतन्य हाई स्कूल अमलापुरम, आंध्र प्रदेश
कॉलेज/विश्वविद्यालयआंध्र विश्वविद्यालय
शैक्षिक योग्यताकॉमर्स में स्नातक की पढाई कर रहे हैं (Distance Education)
आहारमांसाहारी [3]The Indian Express
शौक/अभिरुचियात्रा करना और संगीत सुनना
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
गर्लफ्रेंडज्ञात नहीं
परिवार
पत्नीज्ञात नहीं
माता/पितापिता- आर कासी विश्वनाथम (शिक्षक)
माता- रंगमणि (शिक्षक)
Satwiksairaj Rankireddy with his parents
भाईभाई- रामचरण रंकीरेड्डी (बैडमिंटन खिलाड़ी)
Satwiksairaj Rankireddy with his brother and father
पसंदीदा चीजें
भोजनसाउथ इंडियन
बैडमिंटन खिलाड़ीपी. वी. सिंधु और श्रीकांत किदाम्बिक
एथलीटरोजर फ़ेडरर
अभिनेताप्रभास

Satwiksairaj Rankireddy

सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी एक पेशेवर भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी हैं जो पुरुष युगल और मिश्रित युगल स्पर्धाओं में माहिर हैं।
  • सात्विकसाईराज ने अपने पिता विश्वनाथम रंकीरेड्डी से प्रेरणा लेते हुए 6 साल की उम्र में बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था उनके पिता भी राज्य स्तर के पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और उनके भाई रामचरण रंकीरेड्डी भी एक पेशेवर बैडमिंटन खिलाड़ी हैं।
  • सात्विकसाईराज को शुरुआती दिनों में उनके पिता ने अमलापुरम के ऑफिसर्स क्लब में प्रशिक्षित किया था। उन्होंने अपने पिता के मार्गदर्शन में विभिन्न क्लब कार्यक्रमों और राज्य एवं जिला स्तरीय चैंपियनशिप में भाग लिया।
  • 11 साल की उम्र में सात्विकसाईराज ने जिला स्तर के टूर्नामेंट में भाग लिया और अंडर-13 श्रेणी में सब-जूनियर स्टेट बैडमिंटन चैंपियनशिप के लिए सीधे प्रवेश प्राप्त करते हुए अपना पहला राज्य चैंपियनशिप जीता।
  • वर्ष 2014 में उन्होंने गोपीचंद की सलाह के बाद पेशेवर रूप से प्रशिक्षित होने के लिए हैदराबाद के पुलेला गोपीचंद अकादमी को ज्वाइन किया। अपने करियर के शुरुआती दिनों में सात्विकसाईराज एकल और युगल दोनों खेल में बेहतर थे इसलिए उन्होंने युगल विशेषज्ञ के रूप में प्रशिक्षण लेने का फैसला किया। युगल खिलाड़ी के रूप में अपनी आक्रमण शैली विकसित करने पर उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा-

    युगल खेलना कठिन है क्योंकि भागीदारों के बीच अच्छी समझ, अच्छी बातचीत और सही मानसिकता की जरूरत है। “एकल में, आप अकेले खेलते हैं, लेकिन युगल में, यदि आपका साथी अच्छा महसूस नहीं कर रहा है तो आप मैच हार जाएंगे। डबल्स भी एक तेज़ गेम है और आपको अधिक रैलियां, अधिक स्मैश खेलने की आवश्यकता है। आपको और दिमाग की जरूरत है और यह दिमाग का खेल है।” युगल खेलना कठिन है क्योंकि भागीदारों के बीच अच्छी समझ, अच्छी बातचीत और सही मानसिकता की जरूरत है। “एकल में, आप अकेले खेलते हैं, लेकिन युगल में, यदि आपका साथी अच्छा महसूस नहीं कर रहा है तो आप मैच हार जाएंगे। डबल्स भी एक तेज़ गेम है और आपको अधिक रैलियां, अधिक स्मैश खेलने की आवश्यकता है। आपको और दिमाग की जरूरत है और यह दिमाग का खेल है।”

  • सात्विकसाईराज ने एक साक्षात्कार के दौरान उल्लेख किया कि उनके परिवार के पास उनके प्रशिक्षण के लिए और उन्हें विभिन्न कार्यक्रमों में भेजने के लिए पैसे की व्यवस्था करना आसान नहीं था। उन्होंने कहा-

    शुरुआत में के समय में अकादमी की फीस अधिक थी और प्रायोजकों के बिना अपने दम पर टूर्नामेंट खेलना मेरे माता-पिता के लिए एक कठिन समय था, लेकिन उन्होंने किसी तरह से मुझे इस तरह के मुद्दों के बारे में मुझे कभी नहीं बताया। जब मैंने भारत में टूर्नामेंट जीतना शुरू किया तो वह खुद अंदर ही अंदर छुपे रहे और मेरे लिए संघर्ष करते रहे, फिर अकादमी ने मुझसे आधी फीस देने को कहा और काफी हद तक, मुझे प्रायोजक के रूप में योनेक्स और गोस्पोर्ट्स मिले।”

  • अंडर-17 वर्ग में अपने साथी कृष्ण प्रसाद गरगा के साथ सब-जूनियर नेशनल बैडमिंटन में अपना पहला राष्ट्रीय स्तर का खिताब जीतने के बाद सात्विकसाईराज पहली बार सुर्खियों में आए।
  • सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने कृष्ण प्रसाद गरगा के साथ “एशियाई जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप 2015” में अंडर-17 बॉयज डबल्स में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया जहां उन्होंने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय स्वर्ण पदक जीता।

  • सात्विकसाईराज ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब “टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल 2015” में जीता, जहां उन्होंने मिश्रित युगल स्पर्धा के लिए कुल्लपल्ली मनीषा के साथ भाग लिया।
  • 2016 सात्विकसाईराज के करियर का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ जब उन्होंने मॉरीशस इंटरनेशनल सहित इंटरनेशनल चैलेंज सीरीज़ में 3 मिश्रित युगल खिताब और 4 युगल खिताब अपने नाम किया।

  • वर्ष 2016 में कोच टान किम हर ने सात्विकसाईराज को चिराग शेट्टी के साथ मेडेन सीनियर नेशनल डबल के लिए प्रेरित किया जो बाद में भारतीय बैडमिंटन की एक प्रभावी जोड़ी के रूप में उभरकर सामने आई।
  • चिराग शेट्टी के साथ जोड़े जाने पर सात्विकसाईराज ने कहा कि यह हम दोनों के लिए एक आसान नहीं था। चिराग मुंबई के रहने वाले हैं और मैं आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के छोटे से शहर का रहने वाला हूँ। एक इंटरव्यू में उन्होंने अपना अनुभव साझा किया-

    जब मैं कृष्ण (प्रसाद) के साथ खेलता था तो हम दोनों के बीच अच्छी समझ और संवाद था लेकिन जब मैंने चिराग के साथ साझेदारी की तो इतनी गलतफहमी थी कि कौन आगे खेलेगा कौन पीछे खेलेगा बहुत संवाद था।”

  • वर्ष 2016 में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी टाटा ओपन इंडिया इंटरनेशनल चैलेंज जीतकर सुर्खियों में आई थी।
  • इसके बाद दोनों ने मॉरीशस इंटरनेशनल, इंडिया इंटरनेशनल सीरीज़, बांग्लादेश इंटरनेशनल और वियतनाम ओपन इंटरनेशनल चैलेंज का ख़िताब अपने नाम किया।
  • सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी ने 2018 राष्ट्रमंडल खेल का प्रतिनिधित्व किया और ऑस्ट्रेलिया में आयोजित मिश्रित टीम में स्वर्ण पदक जीता। सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने 2018 राष्ट्रमंडल खेल पुरुष युगल स्पर्धा में भाग लिया और इस आयोजन में रजत पदक जीता। Satwiksairaj Rankireddy at the Commonwealth Games 2018
  • सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी को उनके बैडमिंटन साथी के साथ बीडब्ल्यूएफ मोस्ट इम्प्रूव्ड प्लेयर ऑफ द ईयर अवार्ड्स 2018 के लिए नामांकित किया था। Satwiksairaj Rankireddy among the nominees of BWF Most Improved player of the year
  • उन्होंने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 2017 में हैदराबाद हंटर्स टीम के साथ प्रीमियर बैडमिंटन लीग पीबीएल से की। सात्विकसाईराज अपनी टीम के सबसे लोकप्रिय खिलाड़ियों में से एक हैं। Satwiksairaj Rankireddy with his team at the PBL
  • वर्ष 2019 में सात्विकसाईराज ने चिराग शेट्टी के साथ मिलकर चीन की विश्व चैंपियन जोड़ी ली जुन्हुई और लियू युचेन को हराया और थाईलैंड ओपन डबल्स का खिताब अपने नाम किया साथ ही सुपर 500 सीरीज़ का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन युगल खिलाड़ी बने। Satwiksairaj Rankireddy with Chirag Shetty at the Thailand Open 2019
  • जून 2021 में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी ने पुरुष युगल कैटेगरी में चिराग शेट्टी के साथ 2020 टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।
  • 30 जून 2021 को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने सात्विकसाईराज रैंकीरेड्डी को 2020 टोक्यो ओलंपिक में क्वालिफिई के लिए बधाई देते हुए सम्मानित किया। Satwiksairaj Rankireddy felicitated by the Andhra Pradesh CM

सन्दर्भ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *