Menu

Rahat Indori Biography in Hindi | राहत इंदौरी जीवन परिचय

राहत इंदौरी

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम राहत
उपनाम राहत इंदौरी
व्यवसाय कवि, गीतकार, शायर
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 170
मी०- 1.70
फीट इन्च- 5’ 7”
वजन/भार (लगभग)72 कि० ग्रा०
आँखों का रंग गहरा भूरा
बालों का रंग श्याम-श्वेत
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 1 जनवरी 1950
आयु (2018 के अनुसार ) 68 वर्ष
जन्मस्थान इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
राशि मकर
गृहनगर इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत
स्कूल/विद्यालय नूतन स्कूल इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयइस्लामिया करीमीया कॉलेज (ikdc) इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत
बरकातुल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल, मध्य प्रदेश
भोज विश्वविद्यालय, भोपाल, मध्य प्रदेश
शैक्षिक योग्यता वर्ष 1975 में, बरकातुल्ला विश्वविद्यालय, भोपाल, मध्य प्रदेश से उर्दू साहित्य में परास्नातक
वर्ष 1985 में, भोज विश्वविद्यालय, मध्य प्रदेश से उर्दू साहित्य में पीएचडी
परिवार पिता :- राफतुल्लाह कुरैशी (एक कपड़ा मिल कर्मचारी)
माता :- मकबूल उन निशा बेगम
भाई-बहन :- 3
धर्म इस्लाम
शौकचित्रकारी करना, यात्रा करना
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा खेल हॉकी और फुटबॉल
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पत्नी सीमा राहत
बच्चे बेटा :- फ़ैसल राहत, सतलज़ राहत
राहत इंदौरी का बेटा सतलज़ राहत इंदौरी
बेटी :- शिब्ली इरफ़ान

राहत इंदौरी

विज्ञापन

राहत इंदौरी से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या राहत इंदौरी धूम्रपान करते हैं ? हाँ
  • क्या राहत इंदौरी शराब पीते हैं ? हाँ
  • उनका जन्म मध्य प्रदेश स्थित इंदौर के एक कपड़ा मिल कर्मचारी के घर हुआ था।
  • अपने परिवार में भाई बहनों में वह चौथे स्थान पर हैं।
  • वर्ष 1972 में, उन्होंने 19 वर्ष की आयु में अपनी पहली कविता को सार्वजनिक रूप से पढ़ा।
  • स्कूल और कॉलेज के दौरान वह काफी प्रतिभाशाली विद्यार्थी थे, जहां वह हॉकी और फुटबॉल टीम के कप्तान थे।
  • वर्ष 1973 में स्नातक की उपाधि प्राप्त करने के बाद,अगले दस वर्ष उन्होंने आवारगी में बिताए क्योंकि वह यह निर्णय नहीं ले पा रहे थे कि जीवन में क्या किया जाए। और यहां-वहां घूमते रहते थे। हालांकि, अपने दोस्तों से प्रोत्साहित होने के बाद, उन्होंने उर्दू साहित्य में स्नातकोत्तर करने का मन बनाया और जिसे स्वर्ण पदक के साथ उत्तीर्ण किया।
  • उन्हें देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, इंदौर में पढ़ाने के लिए एक प्रस्ताव मिला था। चूंकि शिक्षण के लिए पीएच.डी. की डिग्री अनिवार्य थी, इसलिए उन्होंने उर्दू साहित्य में पीएच.डी. की और उर्दू साहित्य के प्रोफेसर के रूप में वहां अध्यापन करना शुरू कर दिया। उन्होंने वहां 16 वर्षों तक शिक्षण किया। इसके बाद उनके मार्गदर्शन में कई छात्रों ने पीएचडी की।
  • कविता क्षेत्र में आने से पहले, वह एक चित्रकार बनना चाहते थे और जिसके लिए उन्होंने व्यावसायिक स्तर पर पेंटिंग करना भी शुरू कर दिया था। इस दौरान वह बॉलीवुड फिल्म के पोस्टर और बैनर को चित्रित करते थे। यही नहीं, वह आज भी पुस्तकों के कवर को डिजाइन करते हैं।
  • उनके गीतों को 11 से अधिक ब्लॉकबस्टर बॉलीवुड फिल्मों में इस्तेमाल किया गया। जिसमें से मुन्ना भाई एमबीबीएस एक है।
  • वह एक सरल और स्पष्ट भाषा में कविता लिखते हैं।
  • वह अपनी शायरी की नज़्मों को एक खास शैली में प्रस्तुत करते हैं।

  • कवि जगत में उन्हें मशहूर कवियों में गिना जाता है।
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *