Menu

Vidhi Deshwal Biography in Hindi | विधि देशवाल जीवन परिचय

विधि देशवाल

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम विधि देशवाल
उपनाम सुदामा गर्ल
व्यवसाय लोक गायिका
प्रसिद्ध हैं गीत - बता मेरे यार सुदामा रे
विधि देशवाल बता मेरे यार सुदामा रे गीत गाते हुए
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 165
मी०- 1.65
फीट इन्च- 5' 5"
वजन/भार (लगभग)50 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 8 फरवरी 2002
आयु (2018 के अनुसार)16 वर्ष
जन्मस्थान गांव घिलौड़, जिला रोहतक, हरियाणा
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर गांव घिलौड़, जिला रोहतक, हरियाणा
स्कूल/विद्यालय डॉ. स्वरूप सिंह गवर्नमेंट मॉडल संस्कृति स्कूल, गांव सांघी
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयकोई नहीं
शैक्षिक योग्यता दसवीं
पुरस्कार/सम्मान • मई 2016 को, भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुख़र्जी के द्वारा विधि देशवाल को सम्मानित किया गया।
विधि देशवाल पूर्व राष्ट्रपति से पुरस्कार ग्रहण करते हुए
• भारत के केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु के द्वारा विधि देशवाल को सम्मानित किया गया।
• विधि देशवाल को भारत सरकार के द्वारा भारत गौरव पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
विधि देशवाल भारत सरकार के द्वारा भारत गौरव पुरस्कार ग्रहण करते हुए
धर्म हिन्दू
जाति जाट
शौक/अभिरुचिगीत गाना और लिखना, नृत्य करना
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा भोजन बाजरे की रोटी और सरसों का साग
पसंदीदा रंग लाल, नीला और गुलाबी
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति अविवाहित
परिवार
माता-पिता पिता - सतीश (किसान)
माता - संतोष देवी (गृहणी)
विधि देशवाल अपने माता पिता के साथ
भाई-बहन भाई : कोई नहीं
बहन : कोमल (बड़ी)
विधि देशवाल अपनी बहन के साथ

विधि देशवाल

विधि देशवाल से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • विधि देशवाल का जन्म एक मध्यवर्गीय किसान परिवार में हुआ था।
  • विधि का बचपन से ही संगीत से लगाव रहा है।
  • विधि ने संगीत की दुनिया में पहला कदम हरियाणा के सुपर हिट भजन “बता मेरे यार सुदामा रे” से रखा।

विज्ञापन
  • विधि ने एक साक्षात्कार में बताया कि यह भजन उनकी मां संतोष ने रिठाल गांव में हुए सत्संग के दौरान सुना था और फिर घर आकर उन्होंने विधि को लिखकर दिया। जिसे विधि ने अपने स्कूल के वार्षिक समारोह में गाया।
  • इस गीत को सुनकर प्रधानाचार्य ने खुश होकर इनाम के रूप में विधि देशवाल को 500 रुपए भेंट स्वरूप दिए।
  • इतना ही नहीं इसके बाद इस गीत को विधि के संगीत अध्यापक सोमेश जांगड़ा ने “मेरे यार सुदामा रे…” गीत को रीमिक्स कर नया रूप दिया। जिसे श्रोताओं से और भी प्यार मिला।
  • वर्ष 2016 जुलाई में, एक वीडियो “बता मेरे यार सुदामा रे “ सोशल मीडिया पर डाला गया, जो देखते ही देखते इतना वायरल हो गया कि जिसे लोगों के द्वारा काफी पसंद किया गया। Youtube पर इस वीडियो को अभी तक 10000000 (एक करोड़ ) से ज्यादा लोग देख चुके हैं और 10 लाख से ज्यादा बार फेसबुक पर शेयर किया जा चूका है।
  • इस भजन को सुनकर देश के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी इस भजन के मुरीद हो गए थे। जिसके चलते उन्होंने विधि देशवाल को परिवार सहित राष्ट्रपति भवन में बुलाया।
  • 7 मई की शाम करीब सात बजे विधि अपने पिता सतीश देशवाल, मां संतोष देवी और बड़ी बहन कोमल के साथ राष्ट्रपति भवन पहुंची, करीब 10 मिनट की मुलाकात में राष्ट्रपति ने उनके गीत की खूब प्रशंसा की।
  • जुलाई 2016 में, विधि ने अपने साथी मित्रों के साथ कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के एक समारोह में इस भजन को गाया, जिसे छात्रों द्वारा काफी सरहाया गया। जिसके चलते कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के अध्यक्ष द्वारा विधी एंड टीम को 31000 रुपए की राशि से सम्मानित किया गया।
  • जब विधी का जन्म हुआ था, तब घर में कोई खुश नहीं हुआ था ? क्योंकी घरवाले लड़की नहीं एक लड़के की इच्छा रखते थे, जो खेतीबाड़ी में पिता का हाथ बंटा सके और खानदान का नाम चला सके। लेकिन, विधि के आत्मविश्वास और मेहनत ने अपने माता-पिता और दादी की रूढ़िवादी सोच को बदला है। जिसके परिणामस्वरूप उनके माता-पिता लड़की को लड़के से कम नहीं मानते।
  • विधि देशवाल के गीतों में हरियाणा संस्कृति की झलक दिखाई देती है।
  • विधि देशवाल हाल ही में बॉलीवुड फिल्म निर्देशक सतीश कौशिक के साथ फिल्म “छोरियां छोरो से कम नहीं” की शूटिंग कर रही हैं। विधि देशवाल फिल्म "छोरियां छोरो से कम नहीं" में
  • वह भगवान श्रीकृष्ण की बहुत बड़ी भक्त हैं।
  • विधि देशवाल समय-समय पर अपने संगीत का रियाज करती हैं। विधि देशवाल संगीत का रियाज करते हुए
  • वह एक पशु प्रेमी भी हैं। विधि देशवाल पशुओं से प्रेम करते हुए
विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *