Menu

Dilip Kumar Biography in Hindi | दिलीप कुमार जीवन परिचय

दिलीप कुमार

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम मुहम्मद यूसुफ़ ख़ान
उपनाम ट्रैजेडी किंग
व्यवसाय अभिनेता
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 175
मी०- 1.75
फीट इन्च- 5’ 9”
वजन/भार (लगभग)70 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग सफेद और काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 11 दिसंबर 1922
आयु ( 2017 के अनुसार)95 वर्ष
जन्मस्थान पेशावर, उत्तर-पश्चिम सीमांत प्रान्त, ब्रिटिश भारत
राशि धनु
राष्ट्रीयता भारतीय
हस्ताक्षरदिलीप कुमार हस्ताक्षर
गृहनगर बॉम्बे (अब मुंबई), भारत
स्कूल/विद्यालय बार्नेस स्कूल, देवलाली, नासिक जिला, महाराष्ट्र
महाविद्यालय/विश्वविद्यालयज्ञात नहीं
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
डेब्यू फिल्म (अभिनेता)- ज्वार भाटा (1944)
ज्वार भाटा (1944)
परिवार पिता - लाला गुलाम सरवार (जमींदार और फल व्यापारी)
माता- आयशा बेगम
दिलीप कुमार अपनी मां के साथ
भाई- नासिर खान,
दिलीप कुमार का भाई नासिर खान
एहसान खान, असलम खान, नूर मोहम्मद, अयूब सरवार
बहन- फउजिआ खान, सकीना खान, ताज खान, फरीदा खान, सईदा खान, अख्तर आसिफ
दिलीप कुमार अपनी बहनों साकिना, सईदा और ताज के साथ
धर्म इस्लाम
पता 34 / बी, पाली हिल, नर्गिस दत्त रोड, बांद्रा (पश्चिम), मुंबई 400050, भारत
शौक/अभिरुचिखाना बनाना
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा अभिनेत्रियाँ मीना कुमारी, नलिनी जयवंत
पसंदीदा खेलक्रिकेट
दिलीप कुमार क्रिकेट खेलते हुऐ
पसंदीदा रंगकाला
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
विवाह तिथि 11 अक्टूबर 1966 (सायरा बानो के साथ)
30 मई 1980 (आसमा रहमान के साथ)
गर्लफ्रेंड व अन्य मामले कामिनी कौशल, पूर्व भारतीय फिल्म अभिनेत्री
दिलीप कुमार कामिनी कौशल के साथ
मधुबाला, पूर्व भारतीय फिल्म अभिनेत्री
दिलीप कुमार मधुबाला के साथ
सायरा बानो, पूर्व भारतीय फिल्म अभिनेत्री
आसमा रहमान
पत्नी सायरा बानो (अभिनेत्री, 1966-वर्तमान)
दिलीप कुमार अपनी पत्नी सायरा बानो के साथ
आसमा रहमान (विवाह 1980-1982 तलाक)
दिलीप कुमार अपनी पूर्व पत्नी आसमा रहमान के साथ
बच्चेलागू नहीं
धन संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग)390 करोड़ रुपए

दिलीप कुमार

दिलीप कुमार से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या दिलीप कुमार धूम्रपान करते हैं ? हाँ   दिलीप कुमार धूम्रपान करते हुऐ
  • क्या दिलीप कुमार शराब पीते हैं ? ज्ञात नहीं
  • दिलीप कुमार का जन्म पाकिस्तान के किस्सा–ख्वानी बाज़ार में हिंद-बोलने वाले परिवार में हुआ।
  • वह अपने 12 भाई-बहन के साथ पाले-बड़े हुए।
  • उनके पिता एक जमींदार और फल व्यापारी थे, और उनके देवलाली (महाराष्ट्र, भारत) और पेशावर (पाकिस्तान में) में खुद के बगीचे थे।
  • उन्होंने महाराष्ट्र के नासिक जिले के बार्नर्स स्कूल, देवलाली में अपनी पढ़ाई की।
  • वर्ष 1930 में, उनका परिवार पेशावर से बॉम्बे (अब मुंबई) में स्थान्तरित हो गया था।
  • वर्ष 1940 के आसपास, जब दिलीप कुमार एक किशोर थे, तब उनकी अपने पिता से किसी बात को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया और उन्होंने अपना घर छोड़ दिया और पुणे रहने लगे।
  • उन्होंने पुणे के सेना क्लब में एक सैंडविच स्टाल भी स्थापित किया।
  • 5000 भारतीय रुपये के साथ, वह बॉम्बे (अब मुंबई) में आए। वर्ष 1942 में, उन्होंने देविका रानी (बॉम्बे टॉकीज की मालिक) से मुलाकात की और उनकी कंपनी द्वारा उन्हें प्रति वर्ष 1250 रुपए भुगतान किया जाता था।    देविका रानी
  • अशोक कुमार ने दिलीप कुमार के अभिनय को निखारने में काफी योगदान दिया।  दिलीप कुमार अशोक कुमार के साथ
  • समय साथ वह सशधर मुखर्जी और अशोक कुमार के काफी निकट आ गए।
  • उर्दू भाषा में अपनी कुशलता के कारण, उन्होंने पटकथा लेखन में अपना करियर शुरू किया।
  • उन्होंने देविका रानी के अनुरोध पर अपना नाम यूसुफ से बदल कर दिलीप रख लिया।
  • देविका रानी ने उन्हें फिल्म “ज्वार भाटा” (1944) में एक मुख्य भूमिका प्रदान की। दिलीप कुमार ने हिंदी फिल्म उद्योग में अपने अभिनय करियर की शुरुआत की।
  • वर्ष 1947 में उनकी पहली बड़ी हिट फिल्म “जुगनू” अभिनेत्री नूरजहाँ के साथ थी।   जुगनू
  • उनकी पहली सफल फिल्म “अंदाज़” (1949) नर्गिस और राज कपूर के साथ थी, जो कि एक त्रिकोणीय प्रेम कहानी थी।   अंदाज़
  • फिल्मों में उनकी छवि के कारण उन्हें “ट्रैजेडी किंग” कहा जाता है, जैसे कि- जोगन (1950), हलचल (1951), तराना (1951), दीदार (1951), दाग (1952), आन (1952), उड़न खटोला (1955), देवदास (1955), मधुमती (1958), यहूदी (1958)।
  • मुख्या अभिनेता के तौर पर उनकी पहली फिल्म “अमर” (1954) थी।     अमर
  • वर्ष 1953 में, वह पहले ऐसे भारतीय अभिनेता बने, जिसे हिंदी-फिल्म उद्योग में फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार से सम्मानित किया गया और अपने अभिनय करियरके दौरान उन्हें 7 बार यह सम्मान प्राप्त हुआ।    दिलीप कुमार फिल्मफेयर अवॉर्ड के साथ
  • अपने गंभीर किरदारों की वजह से उन्हे ‘ट्रैजेडी किंग’ कहा जाता है, हालांकि एक मनोचिकित्सक ने उन्हें गंभीर किरदारों के विपरीत हल्के फुल्के किरदार निभाने की सलाह दी।
  • उन्होंने के. आसिफ की महाकाव्य ऐतिहासिक फिल्म “मुगल-ए-आज़म” (1960) में राजकुमार सलीम की भूमिका निभाई, और वर्ष 2008 तक, यह फिल्म हिंदी-फिल्म इतिहास में दूसरी सबसे बड़ी कमाई वाली फिल्म थी।   मुगल-ए-आज़म
  • वर्ष 1961 में, उन्होंने फिल्म “गंगा जमुना” का निर्माण किया और इस फिल्म में उनके छोटे भाई नासिर खान ने अभिनय किया।  गंगा जमुना
  • वर्ष 1962 में, ब्रिटिश फिल्म निर्देशक डेविड लीन ने उन्हें ब्रिटिश फिल्म “Lawrence of Arabia” में एक मुख्य भूमिका की पेशकश की थी, जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया था।
  • वर्ष 1947 में, फिल्म “गोपी” में उन्होंने पहली बार अपनी पत्नी सायरा बानो के साथ अभिनय किया।  गोपी
  • वर्ष 1976 से 1981 तक, उन्होंने 5 साल तक किसी भी फिल्म में कार्य नहीं किया।
  • वर्ष 1980 में, उन्हें मुंबई का शेरिफ (मानद पद) नियुक्त किया गया था।
  • भारत सरकार ने उन्हें वर्ष 1991 में पद्म भूषण, वर्ष 1991 में दादा साहेब फाल्के और वर्ष 2015 में पद्म विभूषण पुरस्कारों से सम्मानित किया।
  • वर्ष 1997 में, पाकिस्तान सरकार द्वारा उन्हें निशान-ए-इम्तियाज़ (पाकिस्तान में सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार) पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

विज्ञापन
  • वर्ष 1993 में, उन्होंने फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड जीता।
  • वर्ष 1998 में, फिल्म ‘किला’ में उन्होंने आखिरी बार अभिनय किया।   किला
  • वर्ष 2000-2006 तक, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी ने उन्हें राज्यसभा के सदस्य के रूप में नामित किया।
  • वर्ष 2011 में, अपने 89 वें जन्मदिन पर, उन्होंने अपना ट्विटर अकाउंट खोला।    दिलीप कुमार ट्विटर अकाउंट
  • दिलीप कुमार ने एक भारतीय अभिनेता द्वारा जीते जाने वाले अधिकतम पुरस्कारों के लिए एक गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया।
  • वर्ष 2013 में, उन्होंने अपनी पत्नी सायरा बानो के साथ हज मक्का मदीना की तीर्थ यात्रा की।

विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *