Menu

Chitra Singh Biography in Hindi | चित्रा सिंह (जगजीत सिंह की पत्नी) जीवन परिचय

चित्रा सिंह

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम चित्रा शोम (उर्फ चित्रा दत्ता)
व्यवसाय पार्श्व गायिका
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 168
मी०- 1.68
फीट इन्च- 5' 6”
वजन/भार (लगभग)60 कि० ग्रा०
आँखों का रंग हेजल भूरा
बालों का रंग काला
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 11 अप्रैल 1945
आयु (वर्ष 2017 के अनुसार)72 वर्ष
जन्मस्थान कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत
राशि मेष
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत
स्कूल/विद्यालय ज्ञात नहीं
शैक्षिक योग्यता ज्ञात नहीं
डेब्यू संगीत एल्बम - The Unforgettables (1977)
पार्श्व गायिका फिल्म - साथ-साथ
परिवार ज्ञात नहीं
धर्म हिन्दू
शौक/अभिरुचिगायन करना, पुस्तकें पढ़ना, यात्रा करना
पसंदीदा चीजें
पसंदीदा भोजन बंगाली व्यंजन, पंजाबी व्यंजन, इतालवी चाइनीज व्यंजन
पसंदीदा अभिनेता अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना और धर्मेंद्र
पसंदीदा अभिनेत्रीरेखा, माधुरी दीक्षित और शर्मिला टैगोर
पसंदीदा संगीतकार लता मंगेशकर, तलत महमूद और जगजीत सिंह
पसंदीदा रंग काला, गुलाबी और लाल
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारियां
वैवाहिक स्थिति विवाहित
बॉयफ्रैंड्स एवं अन्य मामलेजगजीत सिंह
पतिदेबो प्रसाद दत्ता (पहला पति- तलाकशुदा)
चित्रा सिंह का पहला पति देबो प्रसाद दत्ता
जगजीत सिंह (दूसरे पति)
चित्रा सिंह अपने दूसरे पति जगजीत सिंह के साथ
विवाह तिथि वर्ष 1961 (प्रथम विवाह)
वर्ष 1969 (दूसरा विवाह)
बच्चेबेटा :- स्वर्गीय विवेक सिंह (मृत्यु तिथि 1990)
चित्रा सिंह अपने पति और बेटे के साथ
बेटी :- स्वर्गीय मोनिका दत्ता (पहले पति से - मृत्यु तिथि 2009)
चित्रा सिंह की बेटी मोनिका दत्ता
धन/संपत्ति संबंधित विवरण
संपत्ति (लगभग)22 करोड़ भारतीय रुपए

चित्रा सिंह 1

चित्रा सिंह से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या चित्रा सिंह धुम्रपान करती हैं ? ज्ञात नहीं
  • क्या चित्रा सिंह शराब पीती हैं ? ज्ञात नहीं
  • महज 16 वर्ष की आयु में चित्रा ने विवाह कर लिया था। वह एक बंगाली परिवार से संबंध रखती हैं।
  • जगजीत सिंह से उनकी मुलाकात उनके पूर्व पति के एक रिकॉडिंग स्टूडियो में हुई थीं, जहां जगजीत अपने संघर्ष के दिनों के दौरान कार्य करते थे, और जल्द ही वह उनके प्यार में पड़ गईं।
  • महज 21 वर्ष की आयु में उनके बेटे विवेक का एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था। जब उन्हें उनके बेटे की मृत्यु की खबर मिली, तो उन्हें व जगजीत दोनों  को बहुत गहरा सदमा लगा। जिसके चलते दोनों काफी डिप्रेशन में चले गए।

विज्ञापन
  • अपने बेटे की मृत्यु के बाद, उन्होंने आखिरी गीत “मेरे दुःख की कोई दवा न करो” को रिकॉर्ड किया। अंत में चित्रा ने अपने गायन करियर को त्याग दिया।
  • उनकी एक बेटी भी थी, जिसका नाम मोनिका दत्ता (एक मॉडल) थी, जिसने 50 वर्ष की उम्र में आत्महत्या कर ली थी, क्योंकि वह अपने वैवाहिक संबंधों से काफी परेशान थीं।
  • चित्रा ने जगजीत सिंह के साथ गायन शुरू किया और जिसके चलते दोनों को “गज़ल जोड़ी” कहा जाने लगा। उन्होंने एक दूसरे की आवाज की प्रशंसा की और साथ ही साथ विभिन्न गीतों जैसे “रात भी नींद भी”, “बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी”, “तुझको दरियादिली की कसम साक़िया”, “सरकती जाए है रुख से”, इत्यादि कई गीत गाए।

  • उन्होंने अपने पति के साथ एक लाइव कॉन्सर्ट भी किया। जिसे वर्ष 1979 में, बर्मिंघम स्थित “बीबीसी पेबबल मिल” में पंजाबी टप्पे के लिए रिकॉर्ड किया गया था।

  • उन्होंने कुछ बॉलीवुड गाने और टीवी धारावाहिकों के लिए पार्श्व गायन (playback singing) भी किया है, जिसके चलते वह संगीत की दुनिया में बहुत लोकप्रिय हुईं। उनमें से कुछ गीत इस प्रकार हैं :- “यूं जिंदगी की राहों में”, “दिल-ए-नादान तुझे क्या हुआ है”, “तू नहीं तो जिंदगी में क्या”, इत्यादि गीत गाए।

  • यहां एक साक्षात्कार का वीडियो है, जिसमें चित्रा सिंह अपने पति जगजीत सिंह के साथ अपने जीवन की यात्रा के बारे में बता रही हैं :

विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *