Menu

M. J. Akbar Biography in hindi | एम. जे. अकबर जीवन परिचय

एम. जे. अकबर

विज्ञापन

जीवन परिचय
वास्तविक नाम मोबाशर जावेद "एमजे" अकबर
व्यवसाय राजनेता और लेखक
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
भारतीय जनता पार्टी झंडा
राजनीतिक यात्रा • वर्ष 1989 से 1991 तक वह बिहार के किशनगंज क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी से सांसद रहे।
• मार्च 2014 में, वह भाजपा में राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में शामिल हुए।
• 5 जुलाई 2016 को, उन्होंने विदेश मामलों के राज्य मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।
शारीरिक संरचना
लम्बाई (लगभग)से० मी०- 171
मी०- 1.71
फीट इन्च- 5’ 7”
वजन/भार (लगभग)70 कि० ग्रा०
आँखों का रंग काला
बालों का रंग ग्रे
व्यक्तिगत जीवन
जन्मतिथि 11 जनवरी 1951
आयु (वर्ष 2018 के अनुसार)67 वर्ष
जन्मस्थान तेलिनिपारा, पश्चिम बंगाल, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
गृहनगर नई दिल्ली, भारत
राशिमकर
कॉलेज प्रेसीडेंसी कॉलेज, कलकत्ता (1967-70)
शैक्षणिक योग्यता प्रेसीडेंसी कॉलेज, कलकत्ता से अंग्रेजी में बीएस (ऑनर्स)
धर्म इस्लाम
पता के -1553, पालम विहार, गुड़गांव, हरियाणा 122015
विवाद अक्टूबर 2018 में, प्रिया रमानी नामक एक पत्रकार ने अकबर पर आरोप लगाया कि "उन्होंने एक होटल के कमरे में मुझे परेशान किया था। अपने आरोप में, प्रिया ने यह भी कहा कि उस समय वह असहज महसूस कर रही थीं।"
प्रेम संबन्ध एवं अन्य जानकारी
वैवाहिक स्थिति विवाहित
विवाह तिथि वर्ष 1975
गर्लफ्रेंड ज्ञात नहीं
पत्नी मल्लिका जोसेफ अकबर
बच्चे बेटा - प्रयाग जावेद अकबर
एम जे अकबर का बेटा प्रयाग जावेद अकबर
बेटी - मुकुलिका अकबर
परिवार
माता-पिता पिता - शेख अकबर अली
माता - इम्तियाज अकबर
भाई-बहन भाई- ज्ञात नहीं
बहन- गजला अकबर शर्मा
धन संबंधित विवरण
कुल संपत्ति (लगभग)₹36.5 करोड़ (वर्ष 2016 के अनुसार)

एम. जे. अकबर

विज्ञापन

एम. जे. अकबर से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ

  • क्या एम. जे. अकबर धूम्रपान करते हैं ? नहीं
  • क्या एम. जे. अकबर शराब पीते हैं ? हाँ
  • उनका जन्म एक हिंदू परिवार में हुआ था, जिसके बाद उन्होंने धर्म परिवर्तन करते हुए, इस्लाम धर्म को अपनाया।
  • एम. जे. अकबर ने कोलकाता के प्रेसीडेंसी कॉलेज से अंग्रेजी में बीए (ऑनर्स) की डिग्री प्राप्त की है।
  • स्नातक करने के बाद वर्ष 1971 में, वह टाइम्स ऑफ इंडिया में एक प्रशिक्षु के रूप में शामिल हुए।
  • अपनी प्रतिभा के बल पर वह “द इलस्ट्रेटेड वीकली ऑफ इंडिया” के उप-संपादक बने, जो उस समय भारत की सबसे अधिक बिकने वाली पत्रिका थी।
  • वर्ष 1975 में, अकबर ने “द टाइम्स ऑफ इंडिया” में अपनी साथी कर्मचारी मल्लिका जोसेफ से विवाह किया। जिसके चलते उनका एक बेटा प्रयाग (जो डॉर्टमाउथ कॉलेज का पूर्व छात्र है ) और एक बेटी मुकुलिका (जो कैम्ब्रिज के जीसस कॉलेज से लॉ में स्नातक है)।
  • वह आनंद बाजार पत्रिका (एबीपी) समूह में शामिल हुए। जहां उन्होंने एक संपादक के रूप में राजनीतिक साप्ताहिक समाचार पत्र “द संडे” में कार्य किया।

    1980 के दशक में अकबर

    1980 के दशक में अकबर

  • वर्ष 1982 में, अकबर ने भारत के पहले आधुनिक समाचार पत्र “द टेलीग्राफ” को लॉन्च किया, जिसने भारत की पत्रकारिता को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया।

    एम. जे. अकबर द टेलीग्राफ कार्यालय में

    एम. जे. अकबर द टेलीग्राफ कार्यालय में

  • वर्ष 1990 में, उन्होंने अपनी पहली पुस्तक प्रकाशित की, जो भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की जीवनी पर आधारित थी, जिसका शीर्षक “नेहरू: द मेकिंग ऑफ इंडिया” था।

    एम. जे. अकबर की पहली पुस्तक नेहरू: द मेकिंग ऑफ इंडिया

    एम. जे. अकबर की पहली पुस्तक नेहरू: द मेकिंग ऑफ इंडिया

  • उन्होंने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के लिए एक आधिकारिक प्रवक्ता के रूप में भी काम किया है।
  • वर्ष 1991 में, उन्होंने मानव संसाधन मंत्रालय में एक सलाहकार के रूप में काम किया।
  • दिसंबर 1992 में, राजनीति छोड़ने के बाद अकबर ने इस पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद उन्होंने लेखन और पत्रकारिता के क्षेत्र में करियर बनाने का निर्णय किया।
  • फरवरी 1994 में, “द एशियन एज-ए इंग्लिश-लैंग्वेज इंडियन डेली अख़बार” को दिल्ली, बॉम्बे और लंदन में अंतर्राष्ट्रीय प्रकाशन में प्रकाशित करने से उन्होंने अपने शुरुआती संस्करणों को एक साथ लॉन्च किया था।

    अकबर द एशियन एज-ए इंग्लिश-लैंग्वेज इंडियन डेली अख़बार दिल्ली में

    अकबर द एशियन एज-ए इंग्लिश-लैंग्वेज इंडियन डेली अख़बार दिल्ली में

  • अकबर ने हैदराबाद स्थित समाचार पत्र “द डेक्कन क्रॉनिकल” में एक संपादक के रूप में भी काम किया है।

    द डेक्कन क्रॉनिकल

    द डेक्कन क्रॉनिकल

  • वर्ष 2008 तक, समाचार पत्र पूरे विश्व स्तर में फैल गया था, सूत्रों के अनुसार संपादकीय नीति के आधार पर मालिकों ने कुछ गलतफहमियों के कारण अकबर को एशियाई युग और डेक्कन क्रॉनिकल से निकाल दिया गया था।
  • अकबर ने कई गैर-काल्पनिक किताबें लिखी हैं – Riot After Riot in 1991, Kashmir: Behind the Vale in 1991, ndia: The Siege within – Challenges to a Nation’s Unity in 1996, The Shade of Swords: Jihad, and the Conflict between Islam and Christianity in 2003, इत्यादि।
  • 31 जनवरी 2010 को, उन्होंने “द संडे गार्डियन” नामक एक नए रविवार अख़बार को लॉन्च किया, जिसे नई दिल्ली और चंडीगढ़ से प्रकाशित किया जाता था।

    द संडे गार्डियन

    द संडे गार्डियन

  • वर्ष 2012 में, उनकी पुस्तक- “टिंडरबॉक्स: द पास्ट एंड फ्यूचर ऑफ पाकिस्तान” – जिसमें भारतीय मुसलमानों का क्रोध और असुरक्षा का विस्तृत इतिहास है।

    एम. जे. अकबर की पुस्तक- "टिंडरबॉक्स: द पास्ट एंड फ्यूचर ऑफ पाकिस्तान"

    एम. जे. अकबर की पुस्तक- “टिंडरबॉक्स: द पास्ट एंड फ्यूचर ऑफ पाकिस्तान”

  • 13 मई 2008 को, उन्होंने दिल्ली में अपनी वेबसाइट पर गुप्त रूप से एक राजनीतिक पत्रिका लॉन्च की, लेकिन दो दिन बाद, साइट बंद कर दी गई।

    राजनीतिक पत्रिका

    राजनीतिक पत्रिका

  • अक्टूबर 2012 में अग्रणी साप्ताहिक अंग्रेजी समाचार पत्रिका- “इंडिया टुडे” और अंग्रेजी समाचार चैनल- “हेडलाइंस टुडे” में उन्होंने संपादकीय निदेशक के रूप में कार्य किया। जिसके बाद वह राजनीति में शामिल हुए।
  • जुलाई 2015 में, वह झारखंड से राज्य सभा के लिए चुने गए।
  • 5 जुलाई 2016 को, अकबर ने राष्ट्रपति भवन में विदेश मामलों के राज्य मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की।

  • अकबर ने Blood Brothers-A Family Saga and Have Pen नामक हिट फिक्शन किताबें भी लिखी हैं।

    अकबर की हिट फिक्शन किताबें

    अकबर की हिट फिक्शन किताबें

विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *